लाइव टीवी

Delhi Election Result 2020: राजेंद्र नगर (RAJENDRA NAGAR) सीट पर जीते राघव चड्ढा, 'मोस्ट एलिजिबल बैचलर' ने यूं जीता दिल

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 5:31 PM IST
Delhi Election Result 2020: राजेंद्र नगर (RAJENDRA NAGAR) सीट पर जीते राघव चड्ढा, 'मोस्ट एलिजिबल बैचलर' ने यूं जीता दिल
दिल्ली विधानसभा चुनाव २०२०, नई दिल्ली विधानसभा सीट : राघव चड्ढा (Raghav Chadha), आम आदमी पार्टी

दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम 2020: राघव चड्ढा दिल्ली चुनाव में राजेंद्र नगर विधानसभा सीट से 'आप' के प्रत्याशी हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 5:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: राजेंद्र नगर विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा चुनाव जीत गए हैं. राघव चड्ढा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बीजेपी प्रत्याशी सरकार आर पी सिंह को 20 हजार से ज्यादा मतों से हरा दिया है. राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर मुख्य मुकाबला आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच था. दिल्ली की हाईप्रोफाइल सीटों में से एक राजेंद्र नगर सीट से बीजेपी ने सिख उम्मीदवार आरपी सिंह को मैदान में उतारा था  जो कि इस सीट से 2013 में विधायक रह चुके थे. लेकिन इस बार राघव चड्ढा के हाथों आरपी सिंह को हार का सामना करना पड़ा.

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता हैं राघव
राघव चड्ढा आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं. अपने तर्कों और बातचीत की शैली की वजह से वो कम समय में ही राष्ट्रीय स्तर पर बतौर प्रवक्ता अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे. उन्हें पार्टी सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल के भरोसमंद लोगों में से एक माना जाता है.

हंसमुख और मृदुभाषी राघव चड्ढा अपनी योग्यता की वजह से देखते ही देखते अरविंद केजरीवाल  और मनीष सिसोदिया की नज़रों में चढ़ गए. यही वजह रही कि केवल 31 वर्ष की उम्र में ही उन्हें जहां पार्टी के अहम मुद्दों पर अपनी राय रखने का मौका मिला तो साथ ही उनको साल 2013 में आम आदमी पार्टी का घोषणा-पत्र तैयार करने वाली टीम में भी जगह मिली.

वित्त मंत्रालय में बतौर सलाहकार काम कर चुके हैं राघव चड्ढा
राघव चड्ढा ने साल 2016 में दिल्ली के सालाना बजट का मसौदा तैयार करने में उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के सहायक के रूप में काम किया. वित्त मंत्रालय में उन्होंने बतौर सलाहकार काम किया. हालांकि साल 2018 में केंद्र सरकार ने उनकी सेवाएं समाप्त कर दी.

आम आदमी पार्टी में शामिल होने से पहले राघव चड्ढा ने इंडिया अगेंस्ट करप्शन के आंदोलन के समय एक युवा स्वयंसेवक के रूप में सार्वजनिक जीवन की शुरुआत की थी. साल 2012 में राघव चड्ढा की अरविंद केजरीवाल से मुलाकात हुई थी और वो इंडिया अगेंस्ट करप्शन की टीम के हिस्सा बने. इसके बाद वो आम आदमी पार्टी की ड्राफ्टिंग कमेटी में भी शामिल किए गए. साल 2013 के विधानसभा चुनाव को आकार देने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई. वो पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष भी रहे. आज वो राष्ट्रीय प्रवक्ता और आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य हैं.पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट राघव चड्ढा दिल्ली यूनिवर्सिटी से कॉमर्स में ग्रैजुएट हैं. उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में दाखिला लेकर चार्टर्ड अकाउंटेंट की पढ़ाई पूरी की.

15 दिनों में मिले शादी के 12 प्रपोज़ल 
राघव चड्ढा का आकर्षक व्यक्तित्व उनके परिचय में चार चांद लगाता है. राजेंद्र नगर में चुनाव प्रचार के दौरान राघव चड्ढा के महिला प्रशंसकों में उन्हें विधायक से ज्यादा दूल्हे के रूप में देखने के लिए होड़ दिखीं. केवल 15 दिनों में ही उन्हें शादी के 12 प्रपोज़ल मिल गए. जिस पर उन्होंने मज़ाकिया लहज़े में ट्वीट किया था कि देश की अर्थव्यवस्था के खराब हालात को देखते हुए ये वक्त शादी के लिए ठीक नहीं है.

दिल्ली में राघव चड्ढा की बतौर आम आदमी पार्टी के नेता के रूप में लोकप्रियता का ग्राफ हर साल बढ़ता रहा है. यही वजह रही कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में  हार के बावजूद पार्टी ने उन पर विधानसभा चुनाव में भरोसा जताया. 2019 में दक्षिण दिल्ली लोकसभा सीट पर उन्हें बीजेपी के रमेश बिधूड़ी से हार का सामना करना पड़ा था. इसके बावजूद विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने मौजूदा विधायक विजेंदर गर्ग विजय की जगह राघव चड्ढा को टिकट दिया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 10:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर