लाइव टीवी

Delhi Exit Poll Result 2020: क्या दिल्ली की अवाम को नहीं भाए परवेश वर्मा के आक्रामक बयान?

News18Hindi
Updated: February 8, 2020, 8:14 PM IST
Delhi Exit Poll Result 2020: क्या दिल्ली की अवाम को नहीं भाए परवेश वर्मा के आक्रामक बयान?
राजनीतिक चर्चाओं की बाजार गर्म था कि अगर बीजेपी जीती तो परवेश वर्मा सीएम बनाए जा सकते हैं.

एक्जिट पोल (Exit Poll) के मुताबिक परवेश वर्मा (Parvesh Sahib Singh) के प्रभाव वाली करीब 10 विधानसभा सीटों में सभी पर बीजेपी को हार का सामना करना पड़ सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2020, 8:14 PM IST
  • Share this:
दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर वोटिंग समाप्त होने के कुछ ही देर बाद विभिन्न एक्जिट पोल ( Delhi Exit Polls Results 2020) के नतीजे चुके हैं. तकरीबन सभी एक्जिट पोल में आप की सरकार स्पष्ट बहुमत के साथ बनने की संभावना जताई जा रही है. एक तरफ अरविंद केजरीवाल की आंधी चलती दिख रही है तो वहीं कांग्रेस के लिए खाता खोलना भी मुश्किल दिखाई दे रहा है. हालांकि बीजेपी की सीट को लेकर अलग-अलग अनुमान बताए गए हैं. बीजेपी को कुछ सीटें मिलती दिखाई तो दे रही हैं लेकिन ये AAP के मुकाबले बहुत कम हैं.

दिल्ली के चुनाव प्रचार के दौरान राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा के बेटे परवेश वर्मा एकाएक सुर्खियों में आ गए थे. परवेश के आपत्तिजनक बयानों की वजह से चुनाव आयोग ने उन पर चुनाव प्रचार के दौरान दो बार प्रतिबंध लगाया.

क्या कहते हैं एक्जिट पोल
परवेश वर्मा लगातार अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आक्रामक चुनाव प्रचार करते दिखाई दे रहे थे. लेकिन दिलचस्प रूप से अब जब चुनाव के एक्जिट पोल सामने आए हैं तो परवेश वर्मा की आक्रामक कवायद बेमानी दिखाई दे रही हैं. इंडिया टुडे-एक्सिस एक्जिट पोल ने परवेश वर्मा के प्रभाव वाली पश्चिमी दिल्ली की दस सीटों का एक्जिट पोल जारी किया है. इस एक्जिट पोल के मुताबिक पश्चिमी दिल्ली की 10 सीटों में आप को 9 से 10 सीटें हासिल होती हुई दिख रही हैं. यानी बीजेपी 0 या फिर 1 सीट हासिल कर सकती है. वहीं एबीपी-सीवोटर सर्वे ने भी यहां आप की 'संपूर्ण विजय' बताई है. वेस्ट दिल्ली लोकसभा सीट के अंतर्गत विधानसभा की 10 सीटें आती है. एग्जिट पोल के मुताबिक अरविंद केजरीवाल की पार्टी यहां सात से नौ सीटों पर जीत दर्ज कर सकती है. वहीं बीजेपी एक से तीन सीटों के बीच कब्जा जमा सकती है.



पार्टी जीत जाती तो सीएम बनते?
दरअसल चुनाव प्रचार के दौरान इस तरह की कयासबाजी भी लगाई जा रही थी कि जिस तरह से परवेश वर्मा आक्रामक हैं, अगर बीजेपी जीतती है तो वो मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार हो सकते हैं. चुनाव प्रचार के बीच में ही पार्टी की तरफ से परवेश वर्मा ने संसद में जोरदार भाषण दिया. कई राजनीतिक जानकारों की तरफ से माना गया कि ये परवेश को प्रमोट करने की कवायद है. दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष भले ही मनोज तिवारी हैं लेकिन चुनाव के दौरान उनसे ज्यादा परवेश वर्मा ही छाए रहे.चुनाव आयोग ने दो बार लगाया प्रतिबंध
चुनाव प्रचार के बीच में इलेक्शन कमीशन ने परवेश वर्मा पर दो बार प्रतिबंध लगाए. परवेश वर्मा ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में शाहीन बाग में जारी धरना-प्रदर्शन पर भी विवादित बयान दिया था. जिसपर election कमीशन ने उनपर प्रतिबन्ध लगाया था. परवेश वर्मा ने कहा था, 'कश्मीर में जो कश्मीरी पंडितों के साथ हुआ वो दिल्ली में भी हो सकता है. शाहीन बाग में लाखों लोग जुटते हैं, वो आपके घरों में घुस सकते हैं और आपकी बहन और बेटियों से बलात्कार (रेप) कर सकते हैं और उनकी हत्या कर सकते हैं. अब लोगों को निर्णय करना है.’

इसके अलावा उन्होंने सीएम केजरीवाल को आतंकी भी बताया. पश्चिमी दिल्ली के मादीरपुर विधानसभा में. इसी रैली में BJP के सांसद प्रवेश वर्मा ने अरविंद केजरीवाल को ‘आतंकवादी’ बताया था. उन्होंने कहा था- केजरीवाल जैसे नटवरलाल और आतंकी इस देश में छुपे बैठे हैं. हम तो सोचने को मजबूर हैं कि कश्मीर में पाकिस्तान के आतंकवादियों से लड़े या फिर केजरीवाल जैसे आतंकियों से.

परवेश वर्मा पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी के सांसद हैं (फोटो: फेसबुक से साभार)


जान से मारने की धमकी
ऐन चुनाव प्रचार के दौरान परवेश वर्मा ने खुद की जान पर खतरा भी बताया था. परवेश ने ट्वीट किया था- 'पिछले 10 दिनों में मुझे 10 बार जान से मारने कि और अलग अलग तरह कि धमकियाँ मिल चुकी है. अपने ही देश में देशहित और दिल्ली के लोगो के हित की बात करना क्या गुनाह है?. परवेश ने इस ट्वीट में दिल्ली पुलिस और पीआईबी होम अफेयर्स को भी टैग किया है.



वोटिंग के दिन भी जारी किया वीडियो
इतना ही नहीं दिल्ली वोटिंग का धीमा प्रतिशत देखकर परवेश वर्मा ने दोपहर के ढाई बजे ट्वीट कर लोगों से अपील की थी. इस ट्वीट में भी परवेश वर्मा ने शाहीन बाग के आंदोलन पर निशाना साधा था. अगर शाहीन बाग के लोग लंबी-लंबी क़तारों में चिल्ला चिल्ला कर बोल सकते हैं AAP पार्टी को वोट डालो तो दिल्ली वालों आप भी घरों से निकलो और देशभक्त पार्टी को वोट डालो


अब आगे क्या
हालांकि अभी असली चुनावी नतीजे 11 फरवरी को आएंगे. अभी तो सिर्फ एक्जिट पोल ही सामने आए हैं. लेकिन अनुमानों में आम आदमी पार्टी प्रचंड बहुमत हासिल करती दिख रही है. ऐसे में पश्चिमी दिल्ली से सांसद परवेश वर्मा भी नतीजों का इंतजार कर रहे होंगे. हालांकि परवेश वर्मा अब भी कॉन्फिडेंट दिख रहे हैं. वोटिंग के बाद उन्होंने एक ट्वीट कर बीजेपी को 50 सीटें दी हैं. अब असल नतीजों में देखना होगा कि आखिर उनका जादू चला या नहीं?
ये भी पढ़ें:

अगर किसी ने आपके खिलाफ लिखवा दी है झूठी FIR तो क्या है बचने का रास्ता

यहां है भगवान राम का ननिहाल, भांजे के रूप में पूजता है पूरा इलाका

कांग्रेस और बीजेपी दोनों की पसंद रहे हैं राम मंदिर के ट्रस्टी परासरन

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 8:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर