लाइव टीवी

Delhi Fire: रेलमंत्री पीयूष गोयल के हस्तक्षेप से हुआ शवों को बिहार ले जाने का प्रबंध

भाषा
Updated: December 9, 2019, 5:46 PM IST
Delhi Fire: रेलमंत्री पीयूष गोयल के हस्तक्षेप से हुआ शवों को बिहार ले जाने का प्रबंध
दिल्ली अग्निकांड में मारे गए मजदूरों को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एक्सप्रेस से बिहार ले जाया जाएगा (फाइल फोटो)

अधिकारियों ने बताया कि इस दिल दहलाने वाले अग्निकांड में, जिसमें 43 लोगों की जान गई, इस मामले में दिल्ली (Delhi) में बिहार (Bihar) के रेजीडेंट कमिश्नर ने रेलमंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) से इन शवों को घर पहुंचाने के लिए मदद मांगी थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली अग्निकांड (Delhi Fire) में मारे गए बिहार (Bihar) निवासियों के शवों को स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस-12562 (Swatantra Senani Express) से ले जाया जाएगा. यह जानकारी रेलवे के अधिकारियों (Railway Officers) ने दी. रेलवे ने बताया कि इन शवों को स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस के सीटिंग-कम-लगेज रेक (SLR कोच) में ले जाया जाएगा.

अधिकारियों ने बताया कि इस दिल दहलाने वाली दुर्घटना में, जिसमें 43 लोगों की जान गई, इस मामले में दिल्ली में बिहार (Bihar) के रेजीडेंट कमिश्नर ने रेलमंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) से इन शवों को घर पहुंचाने के लिए मदद मांगी थी. रेलमंत्री के इस मामले में हस्तक्षेप के बाद इस कोच की व्यवस्था दिल्ली डिवीजन ने की है.

शवों को बिहार ले जाने के लेकर असमंजस में थे रिश्तेदार
उत्तरी दिल्ली के अनाज मंडी क्षेत्र में हुए अग्निकांड में मारे गए लोगों के शवों का मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम किया गया. मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (Maulana Azad Medical College) में हालांकि अफरातफरी की स्थिति रही क्योंकि लोगों में इस बात को लेकर उलझन थी कि वे अपने रिश्तेदारों के शवों को वापस घर कैसे लेकर जाएं.

बिहार के मधुबंज क्षेत्र के रहने वाले जाकिर हुसैन ने रविवार को हुए इस अग्निकांड में अपने भाई को खो दिया. उन्होंने बताया कि बिहार सरकार ने ट्रेनों से शवों को घर ले जाने के वास्ते रिश्तेदारों के लिए प्रबंध किये है लेकिन प्रक्रिया को लेकर कोई स्पष्टता नहीं थी. उन्होंने बताया कि दिल्ली के मंत्री इमरान हुसैन ने भी रविवार को कहा था कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) शवों को घर ले जाने के लिए उन्हें एंबुलेंस उपलब्ध करायेगी.

संसद में भी उठा दिल्ली अग्निकांड का मुद्दा
इससे पहले रविवार को हुए भीषण अग्निकांड का मुद्दा सोमवार को संसद के दोनों सदनों में उठा और सदस्यों ने भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए ठोस कानून (Strict Law) बनाने की मांग की.इससे पहले, बैठक शुरू होने पर सभापति ने इस अग्निकांड का जिक्र करते हुए कहा कि इतनी अधिक संख्या में बेकसूर लोगों की जान जाना और लोगों का घायल होना बेहद दुखद है तथा पर्याप्त सुरक्षा उपायों का अभाव चिंताजनक है. उच्च सदन (Upper House) में मौजूद सदस्यों ने मृतकों के सम्मान में कुछ पलों का मौन भी रखा.

यह भी पढ़ें: Delhi Fire: स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस से बिहार ले जाए जाएंगे शव, ट्रेन में होगा स्पेशल कोच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 5:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर