विदेश में शरण मांगने के कारण पासपोर्ट जारी करने से इनकार नहीं कर सकते: HC

दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि प्रशासन किसी भारतीय नागरिक को महज इस कारण से पासपोर्ट जारी करने से इनकार नहीं कर सकता कि उसने किसी अन्य देश में शरण के लिए आवेदन किया है.

भाषा
Updated: January 14, 2018, 6:51 PM IST
विदेश में शरण मांगने के कारण पासपोर्ट जारी करने से इनकार नहीं कर सकते: HC
सांकेतिक तस्वीर
भाषा
Updated: January 14, 2018, 6:51 PM IST
दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि प्रशासन किसी भारतीय नागरिक को महज इस कारण से पासपोर्ट जारी करने से इनकार नहीं कर सकता कि उसने किसी अन्य देश में शरण के लिए आवेदन किया है.

न्यायमूर्ति ए. रविंद्र भट और न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा की पीठ ने केंद्र की अपील पर यह टिप्पणी की है. एकल पीठ ने उन पांच व्यक्तियों को पासपोर्ट जारी नहीं करने के सरकार के फैसले को रद्द कर दिया जिन्होंने विदेश में शरण की मांगी थी. इसके खिलाफ केंद्र ने अपील की थी.

एकल न्यायाधीश के फैसले को बरकरार रखते हुए पीठ ने उन्हें पासपोर्ट नहीं देने के लिए ऐसे व्यक्तियों के आवेदन को पूर्व मंजूरी श्रेणी के तहत रखने की अधिकारियों की कार्रवाई को रद्द करने से सहमति जताई.

तीनों की याचिका के मुताबिक, उन्होंने विदेश में रहने के दौरान अन्य देशों में राजनीतिक शरण की मांग की थी लेकिन देश के विभिन्न पासपोर्ट दफ्तरों ने पांच साल तक उन्हें पासपोर्ट जारी करने से इनकार किया. उनका कहना था कि वे भारत की संप्रभुसत्ता और अखंडता को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं.

विदेश यात्रा करने के नागरिकों के मौलिक अधिकारों की अहमियत स्वीकारते हुए हाईकोर्ट की खंडपीठ ने कहा कि देश की संप्रभुसत्ता और अखंडता की मजबूत अवधारणा विदेश में राजनीतिक शरण मांग रहे पृथक व्यक्तियों के कृत्यों का सामना कर सकती है.

ये भी पढ़ें-
धार्मिक चिह्नों वाले सिक्के वापस लेने संबंधी जनहित याचिका हाईकोर्ट ने की खारिज
दिल्ली में है 'पापी बाबा' के 8 आश्रम, हाईकोर्ट करेगा 4 जनवरी को सुनवाई


 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर