AAP सरकार कर रही लोगों की सेहत से मजाक, जल्द ही कोरोना की राजधानी बन जाएगी दिल्ली : हाईकोर्ट

दिल्ली हाईकोर्ट ने आम आदमी पार्टी की सरकार को फटकार लगाई है. (फाइल फोटो)
दिल्ली हाईकोर्ट ने आम आदमी पार्टी की सरकार को फटकार लगाई है. (फाइल फोटो)

Delhi Coronavirus: बेंच ने तंज कसते हुए कहा कि आप सरकार ने नागरिकों के स्वास्थ्य का मजाक बनाकर रख दिया है और इस मामले से अलग से निपटा जाएगा. हाईकोर्ट ने कहा कि दिल्ली सरकार ने टेस्टिंग के मामले में पहले नंबर पर आने के कई दावे किए हैं लेकिन मामलों की संख्या यहां सबसे अधिक है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 5:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) ने राजधानी में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को लेकर नाराजगी जताते हुए कहा कि दिल्ली जल्द ही देश की कोरोना राजधानी (Corona Capital) बन जाएगी. न्यायमूर्ति हिमा कोहली और सुब्रमोनियम प्रसाद की एक बेंच ने कहा कि दिल्ली सरकार महामारी को लेकर पूरी तरह व्याकुल है. बेंच ने तंज कसते हुए कहा कि आप सरकार ने नागरिकों के स्वास्थ्य का मजाक बनाकर रख दिया है और इस मामले से अलग से निपटा जाएगा. हाईकोर्ट ने कहा कि दिल्ली सरकार ने टेस्टिंग के मामले में पहले नंबर पर आने के कई दावे किए हैं लेकिन मामलों की संख्या यहां सबसे अधिक है.

बेंच ने कहा, "दिल्ली जल्द ही देश की कोरोना कैपिटल बन जाएगी. इसके लिए बढ़ते मामलों का आभार." बेंच ने आगे कहा कि हम इसे बहुत ही गंभीरता से लेने जा रहे हैं. पीठ ने यह टिप्पणी की उत्तरी दिल्ली नगर निगम के साथ कार्यरत डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ, सफ़ाईकर्मियों, शिक्षकों और सेवानिवृत्त इंजीनियरों और अन्य लोगों को वेतन का भुगतान न करने से संबंधित याचिकाओं के एक समूह की सुनवाई करते हुए की.

ये भी पढ़ें- हम ममता सरकार के खिलाफ लोगों के गुस्से को महसूस कर सकते हैं: अमित शाह



बुधवार को राजधानी में आए थे सबसे ज्यादा केस
बता दें राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 6,842 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों का कुल आंकड़ा 4.09 लाख हो गया. दिल्ली में पहली बार कोविड-19 के 6,800 से अधिक नए मामले सामने आए हैं. इसके पहले मंगलवार को दिल्ली में संक्रमण के 6,725 नए मामले सामने आए थे.

दिल्ली सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, राजधानी में संक्रमण के कारण 51 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 6,703 हो गई. मंगलवार को 58,910 नमूनों की जांच के बाद 6,842 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई और संक्रमित होने की दर बढ़कर 11.61 प्रतिशत हो गई.

ये भी पढ़ें- राजनाथ सिंह का पाकिस्तान पर हमला, कहा- PoK हमारा था, है और रहेगा

बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में फिलहाल 37,379 मरीजों का इलाज चल रहा है. दिल्ली में रविवार तक लगातार पांच दिनों तक संक्रमण के 5,000 से अधिक नए मामले सामने आ रहे थे. दिल्ली में संक्रमण के कुल मामलों का आंकड़ा 4,09,938 पहुंच चुका है.



गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 के नए मामलों (Covid-19 Cases) में वृद्धि हुई है और इसे महामारी की ‘तीसरी लहर’ कहा जा सकता है. उन्होंने कहा कि लेकिन घबराने की जरुरत नहीं है और सरकार हालात पर लगातार नजर रखे हुए है. मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर में कोविड-19 मरीजों के लिए बिस्तरों की कमी नहीं है, हालांकि कुछ निजी अस्पतालों में वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बिस्तरों की कमी है, इसका निदान भी एक-दो दिन में कर लिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज