Assembly Banner 2021

आजादी के 75 साल के जश्‍न में दिल्ली के आसमान को तिरंगे से सजाने का मास्‍टर प्‍लान

आजादी के 75 साल के जश्‍न के मौके पर कनाट प्‍लेस की तरह दिल्‍ली के चारों ओर लगेंगे तिरंगे.  (फाइल फोटो)

आजादी के 75 साल के जश्‍न के मौके पर कनाट प्‍लेस की तरह दिल्‍ली के चारों ओर लगेंगे तिरंगे. (फाइल फोटो)

दिल्‍ली (Delhi) के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की आप सरकार नई दिल्‍ली में तिरंगा फहराने की तैयारी की योजना बना रही है. कनॉट प्‍लेस की तरह दिल्‍ली के चारों ओर विशाल तिरंगा लगाने की योजना बनाई जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 7, 2021, 10:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. आजादी के 75 साल पूरे होने का जश्‍न दिल्‍ली (Delhi) में धूमधाम से मनाने का प्‍लान तैयार हो चुका है. आजादी के इस जश्‍न के दौरान पूरी दिल्‍ली को तिरंगे से सजाने की तैयारी है. दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की आप सरकार नई दिल्‍ली में तिरंगा फहराने की  योजना बना रही है. बताया जा रहा है कनॉट प्‍लेस में जिस तरह का विशाल झंडा लगाया गया है, उसी तरह से दिल्‍ली के चारों ओर ऐसा ही तिरंगा लगाने का मास्‍टर प्‍लान तैयार किया गया है.

दिल्ली सरकार 12 मार्च से 75 सप्ताह को 'देशभक्ति के सप्ताह' के रूप में मनाने की योजना बना रही है. सरकार ने बीआर अंबेडकर और भगत सिंह के जीवन पर आधारित कार्यक्रमों की योजना तैयार की है. इस बीच दिल्‍ली के विधानसभा अध्‍यक्ष रामनिवास गोयल ने सभी सदस्यों को दिल्ली के बजट सत्र में भाग लेने के लिए कोविड -19 परीक्षण रिपोर्ट जारी करने का निर्देश दिया है, जो सोमवार से एलजी के भाषण के साथ शुरू होगा. महामारी की स्थिति को देखते हुए सदस्यों से फेस मास्क पहनने और सामाजिक दूरी बनाए रखने का अनुरोध किया गया है. सदस्यों को फेस मास्क पहनते समय अपने पहचान पत्र दिखाने को कहा गया है, जिससे विधानसभा परिसर में उन्‍हें पहचानने में मदद मिले.

दिल्‍ली सरकार का वित्‍त वर्ष 2021-22 का प्रस्तावित बजट 70 हजार करोड़ होने की उम्मीद है. पिछले कई सालों से जिस तरह से दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री बजट में बढ़ोत्‍तरी करते आ रहे हैं उसे देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि पिछले वित्‍त वर्ष की तुलना में इस बार का बजट 5 हजार करोड़ से ज्‍यादा होगा.
इसे भी पढ़ें :- सोमवार से शुरू होगा बजट सत्र, LG के अभिभाषण से होगी शुरुआत



हालांकि सरकार के सामने बजट पेश करना चुनौती भी है क्योंकि पिछले एक साल में कोरोना महामारी के कारण दिल्ली सरकार को मिलने वाले राजस्व में 35 प्रतिशत तक कमी की बात बताई जा रही है. पिछले साल के बजट में सरकार ने जिन क्षेत्रों को प्राथमिकता दी थी, वह कोरोना की वजह से पूरी नहीं हो पाई थी. ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि इस वित्‍त वर्ष के बजट में उन्‍हें शामिल किया जाएगा. पिछले साल 650000 करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज