Home /News /nation /

1947 की आजादी को बताया था 'भीख', कंगना पर दिल्ली पुलिस दर्ज करे FIR; कांग्रेस ने लिखा खत

1947 की आजादी को बताया था 'भीख', कंगना पर दिल्ली पुलिस दर्ज करे FIR; कांग्रेस ने लिखा खत

अभिनेत्री कंगना रनौत को इसी हफ्ते सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया था

अभिनेत्री कंगना रनौत को इसी हफ्ते सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया था

कंगना रनौत (Padma Shri Kangana Ranaut) ने एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में 1947 में मिली भारत की आजादी को भीख बताया था. कंगना के इस बयान के बाद पूरे देश में उनका विरोध हो रहा है. कांग्रेस लगातार केंद्र में सत्तासीन सरकार से मांग कर रही है कि कंगना रनौट को गिरफ्तार करने के साथ उनका पद्मश्री सम्मान भी वापस लिया जाना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. बालीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौट के आजादी वाले बयान दिल्ली महिला कांग्रेस ने सख्त रूख अपनाया है. दिल्ली महिला कांग्रेस प्रमुख अमृता धवन ने दिल्ली पुलिस को खत लिखकर कंगना के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है. अमृता धवन का कहना है कि कंगना से 1947 में मिली आजादी को भीख बताकर स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है. दरअसल, कंगना रनौत (Padma Shri Kangana Ranaut) ने एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में 1947 में मिली भारत की आजादी को भीख बताया था. कंगना के इस बयान के बाद पूरे देश में उनका विरोध हो रहा है. कांग्रेस लगातार केंद्र में सत्तासीन सरकार से मांग कर रही है कि कंगना रनौट को गिरफ्तार करने के साथ उनका पद्मश्री सम्मान भी वापस लिया जाना चाहिए.

    बता दें कि वरुण गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर रनौत के बयान वाला वीडियो क्लिप शेयर किया है. इस 24 सेकंड के इस क्लिप में रनौत को कहते सुना जा सकता है, ‘1947 में आजादी नहीं, बल्कि भीख मिली थी और जो आजादी मिली है वह 2014 में मिली.’ दिल्ली महिला कांग्रेस प्रमुख से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा भी कंगना रनौट की उनके इस बयान के लिए आलोचना कर चुके हैं.

    आनंद शर्मा ने कहा था- ‘ कंगना रनौट का यह बयान न सिर्फ महात्मा गांधी, पंडित नेहरू और सरदार पटेल जैसे स्वतंत्रता सेनानियों का ही नहीं, बल्कि सरदार भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद जैसे क्रांतिकारियों के बलिदान का भी अपमान है.’ उन्होंने यह भी कहा था- ‘प्रधानमंत्री को अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए और देश को बताना चाहिए कि क्या वह कंगना रनौत की राय का समर्थन करते हैं. अगर नहीं करते हैं तो सरकार को ऐसे लोगों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए.’

    मुंबई में भी एफआईआर दर्ज कराने की मांग
    आम आदमी पार्टी की प्रीति शर्मा मेनन ने कहा कि उन्होंने कंगना के राजद्रोह वाले और भड़काऊ बयानों के लिए मुंबई पुलिस से उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने कहा, शांति भंग करने के मकसद से जानबूझकर अपमान.

    मेनन ने मुंबई के पुलिस आयुक्त और महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक को टैग करते हुए ट्वीट किया, उम्मीद है कि कुछ कार्रवाई होगी. रनौत भले ही ट्विटर पर इस समय नहीं हों लेकिन उनका नाम ट्रेंड कर रहा है और इतिहासकार एस इरफान हबीब समेत कई लोग उनके बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

    Tags: Actress Kangana, Kangana news, Kangana ranaut news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर