• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Delhi Air Pollution LIVE Updates: प्रदूषण पर कंट्रोल के लिए दिल्ली सरकार ने शुरू किया पानी का छिड़काव

Delhi Air Pollution LIVE Updates: प्रदूषण पर कंट्रोल के लिए दिल्ली सरकार ने शुरू किया पानी का छिड़काव

Delhi-NCR Air Pollution LIVE Updates: दिल्ली में दिवाली के बाद वायु प्रदूषण और हवा की खराब गुणवत्ता (Delhi Air Quality) ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है. वहीं, करीब 4 साल बाद इस बार राजधानी के वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी AQI ने नया रिकॉर्ड बना लिया है. इस साल दिवाली के दूसरे दिन यानी शुक्रवार को एक्‍यूआई 531 रहा, तो शनिवार को यह ओवरऑल 533 के रिकॉर्ड पर पहुंच गया है. वहीं, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम में भी हालात खराब हैं. हालांकि दोपहर में ग्रेटर नोएडा में प्रदूषण कुछ कम हुआ है.

  • News18Hindi
  • | November 06, 2021, 15:31 IST
    LAST UPDATED 3 MONTHS AGO

    हाइलाइट्स

    15:23 (IST)
    Delhi-NCR Air Pollution: राजधानी दिल्‍ली में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली सचिवालय से जल छिड़कने वाले ट्रकों को झंडी दिखाकर रवाना किया.उन्होंने बताया कि प्रदूषण कम करने के लिए काम किया जा रहा है. पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने और दिल्ली में पटाखे फोड़ने से प्रदूषण बढ़ा है. 

    14:55 (IST)
    Delhi-NCR Air Pollution: भाजपा सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने कहा कि केजरीवाल जी 365 दिन दिल्ली में प्रदूषण रहता है. कोरोना में भी कुंभ को कोरोना का कारण बताया था, अब दीवाली के एक दिन को प्रदूषण का कारण बताकर हिन्दू त्यौहारों पर इल्जाम लगाना बन्द करिये. यह दीवाली का प्रदूषण नहीं है यह ‘आप’ सरकार की विफलताओं का प्रदूषण है. 

    13:59 (IST)

    Delhi-NCR Air Pollution: मौसम विभाग ने तेज हवाएं चलने का अनुमान जताया है, जिससे शनिवार को शहर की आबोहवा को प्रदूषक कणों से मुक्त होने में मदद मिलेगी. विशेषज्ञों ने बताया कि मौसम संबंधी प्रतिकूल परिस्थितियों, मंद हवा और कम तापमान के बीच पटाखे, पराली जलाने और स्थानीय स्रोते से उत्सर्जन की वजह से वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में पहुंच गई. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान एजेंसी ‘सफर’ ने बताया कि पराली जलाने की वजह से शुक्रवार को दिल्ली के प्रदूषण में पीएम 2.5 का योगदान 36 प्रतिशत था, जो कि अब तक का सबसे ज्यादा है.

    13:53 (IST)

    Delhi-NCR Air Pollution:दिल्ली में शनिवार को तेज हवाएं चलने से वायु गुणवत्ता में आंशिक सुधार हुआ और अगले दो दिनों में हवा और साफ होने की उम्मीद है. मौसम विशेषज्ञों ने यह जानकारी दी है. 

    13:05 (IST)
    Delhi-NCR Air Pollution:मौसम विभाग ने दोपहर बाद दिल्‍ली-एनसीआर में प्रदूषण में राहत की बात कही थी. इस बीच ग्रेटर नोएडा में एक्‍यूआई 300 से नीचे चला गया है. इस वक्‍त नॉलेज पार्क 1 में 267 और नॉलेज पार्क 3 में 398 पहुंच गया है. यह शनिवार सुबह 450 के करीब था. 

    12:54 (IST)
     Air Pollution:दिल्‍ली और आसपास के इलाकों में अभी भी एक्‍यूआई 'खराब' श्रेणी में बना हुआ है. हालांकि बहादुरगढ़, ग्रेटर नोएडा और दिल्‍ली के आरके पुरम में प्रदूषण कुछ कम हुआ है. मौसम विभाग के मुताबिक, दोपहर बाद दिल्‍ली-एनसीआर में कुछ राहत की उम्‍मीद है. 

    नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्‍ली (Delhi Air Pollution LIVE Updates) में पटाखों पर बैन के बाद भी आतिशबाजी करने और पड़ोसी राज्‍यों में पराली जलाने की घटनाओं की वजह से सांस लेना मुशिकल हो गया है. वहीं, शुक्रवार को दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) 531 पर पहुंच गया, जो पांच साल में दिवाली के अगले दिन का सर्वाधिक आंकड़ा है. जबकि यह शनिवार को बढ़कर 533 हो गया. इसके अलावा नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई.

    दिल्ली-एनसीआर में धुंध की मोटी परत छाने और हवा की गुणवत्ता खराब होने के कारण लोगों को गले में खराश और आंखों से पानी आने की दिक्कतों से जूझना पड़ा. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने शुक्रवार को कहा कि राजधानी की वायु गुणवत्ता पराली जलाने की घटनाओं और प्रतिबंध के बावजूद दीपावली पर पटाखे जलाने के कारण खराब हुई है. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर दीपोत्सव पर लोगों को पटाखे जलाने की सलाह देने का आरोप लगाया.

    बैन के बाद भी जमकर छूटे पटाखें
    त्योहारों के मौसम से पहले दिल्ली सरकार ने एक जनवरी 2022 तक पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी और पटाखों की बिक्री तथा इस्तेमाल के खिलाफ सघन अभियान चलाया था. इसके बाद भी दिवाली पर जमकर आतिशबाजी हुई. दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई और यहां तक ​​कि कनॉट प्लेस में हाल शुरू ‘स्मॉग टॉवर’ भी आसपास के निवासियों को सांस लेने योग्य हवा नहीं दे सका.

    दिल्‍ली में टूटा रिकॉर्ड
    दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (डीपीसीसी) के आंकड़ों से पता चलता है कि दिवाली की रात द्वारका-सेक्टर 8, पंजाबी बाग, वजीरपुर, अशोक विहार, आनंद विहार और जहांगीरपुरी में पीएम10 का स्तर 800 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर और 1,100 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर के बीच था. जबकि दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक गुरुवार की रात ‘गंभीर’ श्रेणी में प्रवेश कर गया और पिछले साल दिवाली के अगले दिन 24 घंटे का औसत एक्यूआई 435 था. जबकि 2019 में 368, 2018 में 390, 2017 में 403 और 2016 में 445 दर्ज किया गया था. इस साल दिवाली के दिन एक्यूआई 382 था, 2020 में यह 414, वर्ष 2019 में 337, वर्ष 2018 में 281, वर्ष 2017 में 319 और 2016 में 431 था.

    शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 को ‘मध्यम’, 201 और 300 को ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 को ‘गंभीर’ माना जाता है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन