पुलिस ने बरामद किया लापता अधिकारी का शव, पत्नी का पहचानने से इनकार

पुलिस ने बरामद किया लापता अधिकारी का शव, पत्नी का पहचानने से इनकार
प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली के द्वारका इलाके से लापता भारत सरकार के अधिकारी जितेंद्र कुमार झा का शव पुलिस ने बरामद करने का दावा किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 15, 2017, 10:48 PM IST
  • Share this:
दिल्ली के द्वारका इलाके से लापता भारत सरकार के अधिकारी जितेंद्र कुमार झा का शव पुलिस ने बरामद करने का दावा किया है. लेकिन अधिकारी के परिवार ने पुलिस के दावे को दरकिनार कर दिया कि जिस शव की शिनाख्त पुलिस ने करवाई थी वो आईसीएएस अधिकारी का नहीं है. वहीं दिल्ली पुलिस डीएनए कराने के लिए भी तैयार है.

देश के महत्वपूर्ण विभागों में फैले भ्रष्टाचार ने एक और ईमानदार अधिकारी को खुदकुशी करने के लिए मजबूर कर दिया. जितेंद्र झा 1998 बैच के इंडियन सिविल अकाउंट्स सर्विसेज के अधिकारी थे और उनकी एक ईमानदार अधिकारी की छवि थी. उन्होंने एचआरडी मिनिस्ट्री में जॉइनिंग के बाद ही अपने विभाग में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ी. कई शिकायतें उन्होंने एंटी करप्शन और सीबीआई में भी की. वो इस सिस्टम को ही खत्म करना चाहते थे. लेकिन ऊपरी सिस्टम में फैले भ्रष्टाचार ने उन्हें भी उत्पीड़न का शिकार बना दिया. उनकी ईमानदार छवि उनके आगे रोड़ा अटकाती रही और उनके कई ट्रांसफर होते रहे. लेकिन वो झुके नहीं.

11 दिसम्बर को वो अपने घर से बाहर निकले लेकिन तबसे घर वापस नहीं आए, जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की तो 12 दिसम्बर को उनका शव पालम विहार रेलवे लाइन पर मिला. शव के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें उन्होंने ये लिखा कि भ्रष्टाचार से वो दुखी हैं लेकिन किसी का नाम लिखकर नहीं गए. नोट में लिखा है कि वो करप्शन को कम नहीं कर पाए और उनका कोई गॉड फादर भी नहीं है. हालांकि उन्होंने किसी को सुसाइड के लिए दोषी नहीं ठहराया है. पुलिस इसे आत्महत्या का मामला मान रही है, लेकिन अधिकारी की पत्नी ने लाश को पहचानने से इनकार कर दिया है, इसलिए मौत का ये मामला उलझ गया है.



पुलिस अधिकारी दावा कर रहे हैं कि शव अधिकारी का ही है और वो जरूरत पड़ने पर डीएनए कराने के लिए भी तैयार हैं. जितेंद्र कुमार झा सोमवार की सुबह करीब 10 बजे से अचानक बाहर निकल गए. इलाके के हर सीसीटीवी में वो अकेले जाते दिख रहे थे.12 दिसम्बर को उनका शव पालम रेलवे ट्रैक पर मिला. लेकिन परिजन ये मानने को तैयार नही हैं कि वो शव जितेंद्र झा का है. पुलिस के मुताबिक शुरुआती जांच में मामला सुसाइड का ही है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है.
भले ही अधिकारी जितेंद्र झा के परिवार ने शव को पहचानने से इनकार कर दिया है लेकिन पुलिस का ये कहना है कि उनके पास और भी कई सबूत हैं जो ये साबित करता है कि ये शव जितेंद्र कुमार का ही है. बहरहाल पुलिस आगे भी मामले की तफ्तीश की बात कर रही है.

ये भी पढ़ें-
दिल्ली से लापता हुए मार्निंग वॉक को गये बिहार के रहने वाले अफसर
दिल्ली में रेलवे ट्रैक पर मिला लापता अफसर जितेंद्र झा का शव, पत्नी ने किया इनकार


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज