Home /News /nation /

कन्हैया पर पलटे बस्सी ने बताया, जेएनयू में कार्रवाई से क्यों बच रही है दिल्ली पुलिस!

कन्हैया पर पलटे बस्सी ने बताया, जेएनयू में कार्रवाई से क्यों बच रही है दिल्ली पुलिस!

NEW DELHI, INDIA - FEBRUARY 12: Delhi Police Commissioner BS Bassi after inaugurating Academy for Smart Policing on February 12, 2016 in New Delhi, India.  (Photo by Arun Sharma/Hindustan Times via Getty Images)

NEW DELHI, INDIA - FEBRUARY 12: Delhi Police Commissioner BS Bassi after inaugurating Academy for Smart Policing on February 12, 2016 in New Delhi, India. (Photo by Arun Sharma/Hindustan Times via Getty Images)

बस्सी ने पहले कहा था कि पुलिस कन्हैया की जमानत का विरोध नहीं करेगी क्योंकि उसके जैसे एक नौजवान को दूसरा मौका मिलना चाहिए। आज अपने रुख में बदलाव को जायज ठहराया।

    नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में देशविरोधी नारेबाजी के आरोपी कन्हैया कुमार की जमानत याचिका को लेकर दिल्ली पुलिस का रुख बदल गया है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर बी एस बस्सी ने पहले कन्हैया की जमानत याचिका का विरोध न करने का ऐलान किया था लेकिन अब उन्होंने कहा है कि बदली परिस्थितियों को देखते हुए कन्हैया का बाहर आना केस के लिए ठीक नहीं होगा, इसलिए पुलिस उसकी जमानत का विरोध करेगी। पुलिस कमिश्नर ने जेएनयू से इस मामले के बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी न कर पाने का भी कारण बताया।

    बस्सी ने पहले कहा था कि पुलिस कन्हैया की जमानत का विरोध नहीं करेगी क्योंकि उसके जैसे एक नौजवान को दूसरा मौका मिलना चाहिए। आज अपने रुख में बदलाव को जायज ठहराते हुए उन्होंने कहा कि जिन हालात में मैंने ये बात कही थी वे अब पूरी तरह बदल चुके हैं। कन्हैया ने उस वक्त अपनी ओर से पछतावे का परिचय दिया था जब उसने अदालत में पेश होने से पहले एक अपील जारी की थी हालांकि बाद में उसने ऐसी कोई अपील जारी करने से इनकार कर दिया।

    पुलिस कमिश्नर ने कहा कि हमें इस बात की वाजिब चिंता है कि अगर वह जमानत पर बाहर आता है तो वह जांच पर असर डालने वाला है और गवाहों को प्रभावित करने वाला है। वह ऐसी गतिविधियों में शामिल हो सकता है जो दंडीय कानूनों के विरूद्ध हैं। इसलिए हमने जमानत याचिका का विरोध किया है।

    उमर खालिद सहित इस केस के बाकी आरोपी रविवार की शाम से जेएनयू के कैंपस में मौजूद हैं लेकिन दिल्ली पुलिस उन्हें अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है। इस मुद्दे पर बस्सी ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि वो जांच से जुड़ेंगे। वो अपने आप को कानून से दूर रखने का प्रयास कर रहे हैं। विश्वविद्यालय और शिक्षा संस्थानों में एक परंपरा है। अगर जीवन और प्रॉपर्टी को एकदम से खतरा न हो तो संस्थान के प्रमुख को विश्वास में लेकर ही हम कार्रवाई करते हैं। उन्हें नोटिस जारी किया गया है। हमने उन्हें काफी मौका दिया है। अगर वो पेश नहीं होते हैं तो हम कार्रवाई करेंगे।

    बस्सी ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि वहां बहुत संगीन जुर्म हुआ है, देशद्रोही नारे लगाए गए थे। उस घटना के बाद जिसने वो अपराध किया था वो भाग गए थे। अब वो वापस आए हैं। किसी की जानमाल को कोई खतरा नहीं है इसलिए हम धैर्य के साथ काम कर रहे हैं। हम इंतजार कर रहे हैं कि उन्हें सदबुद्धि मिलेगी, वो सहयोग करेंगे, अगर लगेगा कि सहयोग नहीं करेंगे तो हमारे सारे विकल्प खुले हैं।

    Tags: B S Bassi, Jnu

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर