अपना शहर चुनें

States

दिल्ली पुलिस ने फर्जी खबर फैलाने के लिए सोशल मीडिया खातों के खिलाफ 4 मामले दर्ज किए

दिल्ली पुलिस कर्मियों के सामूहिक इस्तीफे की फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में राजस्थान से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
दिल्ली पुलिस कर्मियों के सामूहिक इस्तीफे की फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में राजस्थान से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

FIR against Social Media Accounts: दिल्ली पुलिस कर्मियों के सामूहिक इस्तीफे की फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में राजस्थान से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. एक और फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में भरतपुर से एक अन्य को गिरफ्तार किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2021, 5:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की साइबर शाखा (CyPAD Unit) ने किसानों के प्रदर्शन के संबंध में फर्जी खबर (Fake News) फैलाने के लिए विभिन्न सोशल मीडिया खातों (Social Media Accounts) के खिलाफ चार मामले दर्ज किए हैं और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. साथ ही चार लोगों के खिलाफ चार नोटिस भी जारी किए हैं. पुलिस ने इस संबंध में आपत्तिजनक और गैरकानूनी पोस्ट को हटाने का अनुरोध भेजा है. दिल्ली पुलिस के पीआरओ चिन्मय बिस्वाल (Chinmoy Biswal) ने कहा कि इन लोगों के बयान दर्ज करने के बाद मामले में आगे कार्रवाई होगी. दिल्ली पुलिस कर्मियों के सामूहिक इस्तीफे की फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में राजस्थान से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. एक और फर्जी खबर पोस्ट करने के आरोप में भरतपुर से एक अन्य को गिरफ्तार किया गया है.

बिस्वाल ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस ने आपत्तिजनक गतिविधियों में लिप्त कई आरोपी व्यक्तियों की पहचान की है और उनकी गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं. जांच में शामिल होने के लिए चार व्यक्तियों को नोटिस जारी किए गए हैं. उनके खिलाफ आगे की कार्रवाई उनके बयान के आधार पर की जाएगी.’’ उन्होंने कहा कि इन मामलों की जांच के क्रम में, जिन सोशल मीडिया अकाउंट और हैंडल्स से फर्जी, आपत्तिजनक, भड़काऊ सामग्री को पोस्ट किया गया है, उनके मूल सब्सक्राइबर की जानकारी प्राप्त करने के लिए और उन्हें हटाने के लिए संबंधित ओटीटी प्लेटफॉर्म को भी नोटिस भेजा गया है.





पुलिस ने कहा कि निहित स्वार्थी समूहों द्वारा किए गए दुर्भावनापूर्ण सोशल मीडिया प्रचार का उद्देश्य मुख्य रूप से आईटीओ, लाल किला और राष्ट्रीय राजधानी में अन्य स्थानों पर ट्रैक्टर रैली के प्रदर्शनकारियों द्वारा किए गए हिंसा के कारण लोगों के रोष के बीच फिर से समर्थन हासिल करना था.

26 जनवरी को हुई हिंसा में 500 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज