लाइव टीवी

सुनंदा पुष्कर केसः दिल्ली पुलिस ने दायर की चार्जशीट, पढ़ें पूरा मामला

Anand Tiwari | News18Hindi
Updated: May 14, 2018, 6:09 PM IST
सुनंदा पुष्कर केसः दिल्ली पुलिस ने दायर की चार्जशीट, पढ़ें पूरा मामला
फाइल फोटो

SIT के मुताबिक दोनो धाराएं चार्जशीट में मामले से जुड़े एक्सपर्ट के ओपिनियन, साईकोलॉजिकल प्रोफाइलिंग और साइंटिफिक रिपोर्ट के आधार पर लगाए गए हैं.

  • Share this:
देश की सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री पर से पर्दा उठ गया है. करीब चार साल बाद दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में दिल्ली पुलिस की SIT ने करीब 3 हजार पन्ने की चार्जशीट दाखिल कर दी है. चार्जशीट दाखिल करने SIT टीम के एक एडिशनल डीसीपी मनीषी चंद्रा, एक एसीपी, और दो इंस्पेक्टर रविशंकर और वी के पी एस यादव मौजूद थे. चार्जशीट में शशि थरूर को कॉलम नंबर 11 में आरोपी बनाया गया है. ये चार्जशीट IPC की धारा 306 यानी आत्महत्या के लिए उकसाना और धारा 498(A) यानी वैवाहिक जीवन मे पत्नी को प्रताड़ित करने के तहत हुई है. कोर्ट 24 मई को इस मामले में सुनवाई करेगी.

बता दें की इस मामले में शुरुआत में तमाम साइंटिफिक टेस्ट, फोरेंसिक टेस्ट और साईकोलॉजिकल टेस्ट कराने के बाद भी हत्या के कोई सबूत नहीं मिले थे.

ये मामला आत्महत्या में के लिए उकसाने का है क्योंकि सुनंदा का अपने पति शशि थरूर से लगातार झगड़ा चल रहा था और इसके चलते सुनंदा लगातार डिप्रेशन की दवाईयां बिना किसी डॉक्टरी प्रिस्क्रिप्शन के ले रहीं थी. हालांकि इस मामले में कोई सुसाइड नोट नहीं बरामद हुआ था.

SIT के मुताबिक दोनो धाराएं चार्जशीट में मामले से जुड़े एक्सपर्ट के ओपिनियन, साईकोलॉजिकल प्रोफाइलिंग और साइंटिफिक रिपोर्ट के आधार पर लगाए गए हैं.

सुनंदा केस में जनवरी 2014 के दूसरे हफ्ते में तिरुवनंतपुरम से दिल्ली की एयर इंडिया की फ्लाइट में सुनंदा और शशि थरूर के बीच झगड़ा हुआ था जो मीडिया में चर्चा का विषय रहा. सुनंदा ने आरोप भी लगाया था कि पाक पत्रकार मेहर तरार पति पत्नी के बीच तकरार की वजह है. यही नहीं सुनंदा की मौत से एक दिन पहले यानी 16 जनवरी की रात को सुनंदा ने वरिष्ठ पत्रकार नलिनी सिंह को फोन कर बताया की वो थरूर के बारे के कुछ अहम जानकारियां देने वाली हैं.

वहीं 17 जनवरी 2014 की रात करीब 7:45 मिनट पर केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने एसएचओ सरोजिनी नगर को फ़ोन कर बताया कि उनकी पत्नी की लीला होटल के कमरे में मौत हो गयी है जिसके बाद पुलिस की टीम होटल लीला के कमरा नम्बर 345 में पहुंची और सुनंदा पुष्कर के शव को एम्स शिफ्ट किया गया था. होटल के उस कमरे की फोरेंसिक जांच भी कराई गई.

जिसके बाद सुनंदा का पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने सुनंदा की मौत को बताया की ये सामान्य मौत नहीं है. बता दें की सुनंदा लूपस नाम की बीमारी से पीड़ित थीं और उनका इलाज केरल में चल रहा था.सितंबर 2014 में दिल्ली पुलिस को सीएफएसएल से सुनंदा की विसरा रिपोर्ट मिली और एम्स से फाइनल रिपोर्ट मिली, जिसमें कहा गया कि सुनंदा के मौत का कारण स्पष्ट नहीं है लेकिन उनकी मौत किसी ज़हर से हुई है, हो सकता है कि ये कोई रेडियोएक्टिव ज़हर हो.

रिपोर्ट में सुनंदा के शरीर में चोटों का भी ज़िक्र किया गया, कहा गया कि सुनंदा के शरीर में जो 12 चोट के निशान हैं वो मौत के पहले के हैं और गहरे नहीं हैं यानी वो निशान ऐसे नहीं हैं जिससे किसी की मौत हो सकती है. इन 12 चोट के निशान में एक निशान ऐसा भी था जो सुनंदा के बाएं हाथ की उंगलियों के बीच एक इंजेक्शन लगाने का निशान लगने जैसा था.

1 जनवरी 2015 को दिल्ली पुलिस ने इस मामले में हत्या का केस दर्ज कर लिया और मामले की जांच करने के लिए एसआईटी का गठन किया गया.

एसआईटी ने शशि थरूर से 3 बार बार पूछताछ की और इस मामले से जुड़े लोगों थरूर सुनंदा के लैपटॉप, आईफोन और ब्लैकबेरी फोन सीज कर जांच के लिए CBI की सीएफएसएल भेज दिया था. SIT ने शशि थरूर के 6 करीबी लोगों का पॉलीग्राफ टेस्ट कराया जिसमें उनका घरेलू कर्मचारी नारायण सिंह, ड्राइवर बजरंगी और एक करीबी दोस्त संजय दीवान शामिल था.

फरवरी 2015 में दिल्ली पुलिस ने सुनंदा पुष्कर का विसरा सैंपल और होटल के मिले दूसरे सबूत जांच के लिए अमेरिका की एफबीआई लैब में भेजे. नवंबर 2015 दिल्ली पुलिस को एफबीआई से सुनंदा पुष्कर की विसरा रिपोर्ट मिली, जिसमें कहा गया कि मौत सामान्य नहीं है, किसी ज़हर से हुई है लेकिन रेडियोएक्टिव ज़हर नहीं है.

जनवरी 2016 में एम्स ने फाइनल रिपोर्ट तैयार की जिसमें कहा गया कि सुनंदा की मौत ज़हर से हुई और ये जहर एल्प्रेक्स की गोलियों से हो सकता है या जो इंजेक्शन का निशान है उससे लिया ज़हर हो सकता है.

SIT ने पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार को मेल भेजकर कई सवाल भी पूछे. इस मामले में CBI की CFSL ने कई बार होटल लीला का मुआयना भी किया. दिल्ली पुलिस की SIT ने शशि थरूर का ब्रेन मैपिंग टेस्ट भी कराया.

ये भी पढ़ेंः
मौत के एक दिन पहले 2 घंटे कहां गायब थीं सुनंदा पुष्कर?
अपनी वसीयत क्यों बनवाना चाहती थीं सुनंदा?


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 14, 2018, 6:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर