Home /News /nation /

delhi rank 3rd in per capita income after sikkim goa in economic survey

प्रति व्यक्ति आय के मामले में दिल्ली का देश में तीसरा स्थान, जानें कौन सा राज्य है नंबर वन

दिल्ली में वर्ष 2021-22 में प्रति व्यक्ति आय सालाना आधार पर 16.81 फीसदी बढ़कर 4,01,982 रुपये हो गई. (फाइल फोटो)

दिल्ली में वर्ष 2021-22 में प्रति व्यक्ति आय सालाना आधार पर 16.81 फीसदी बढ़कर 4,01,982 रुपये हो गई. (फाइल फोटो)

Delhi Economic Survey: दिल्ली में वर्ष 2021-22 में प्रति व्यक्ति आय सालाना आधार पर 16.81 फीसदी बढ़कर 4,01,982 रुपये हो गई. आर्थिक समीक्षा के मुताबिक, "2021-22 में मौजूदा कीमतों पर दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय 4,01,982 रुपये है जो 2020-21 में 3,44,136 रुपये थी. यह 16.81 फीसदी की बढ़त दिखाता है." समीक्षा के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में दिल्ली में प्रति व्यक्ति आय राष्ट्रीय औसत से तीन गुना अधिक है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दिल्ली के लिए तैयार आर्थिक समीक्षा 2021-22 के मुताबिक प्रति व्यक्ति आय के मामले में यह केंद्रशासित प्रदेश गोवा और सिक्किम के बाद तीसरे स्थान पर है. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को राज्य विधानसभा में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आर्थिक समीक्षा रिपोर्ट पेश की. इसके मुताबिक, मौजूदा कीमतों पर दिल्ली का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) बीते छह वर्षों में करीब 50 फीसदी बढ़कर 2021-22 में 9,23,967 करोड़ रुपये हो गया जो 2016-17 में 6,16,085 करोड़ रुपये था.

वहीं दिल्ली में वर्ष 2021-22 में प्रति व्यक्ति आय सालाना आधार पर 16.81 फीसदी बढ़कर 4,01,982 रुपये हो गई. आर्थिक समीक्षा के मुताबिक, “2021-22 में मौजूदा कीमतों पर दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय 4,01,982 रुपये है जो 2020-21 में 3,44,136 रुपये थी. यह 16.81 फीसदी की बढ़त दिखाता है.” समीक्षा के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में दिल्ली में प्रति व्यक्ति आय राष्ट्रीय औसत से तीन गुना अधिक है.

दिल्ली की जीएसडीपी में 17.65% का इजाफा

आर्थिक समीक्षा के मुताबिक, “वित्त वर्ष 2021-22 में दिल्ली की जीएसडीपी (राज्य सकल घरेलू उत्पाद) सालाना आधार पर 17.65 फीसदी बढ़कर 9,23,967 करोड़ रुपये हो गई है.” दिल्ली ने 2021-22 में 1,450 करोड़ रुपये का राजस्व अधिशेष दर्ज किया जो पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले 0.04 फीसदी कम है. इसमें कहा गया, “2020-21 में दिल्ली का राजस्व अधिशेष जीएसडीपी का 0.18 फीसदी था जो 2021-22 में 0.14 फीसदी रहा.”

बजट के कुल आवंटन में सबसे अधिक परिवहन क्षेत्र में

समीक्षा में बताया गया कि 2020-21 में राजकोषीय घाटा 9,972.96 करोड़ रुपये रहा जो 2019-20 में 3,227.79 करोड़ रुपये था. इसमें बताया गया कि 2021-22 में योजनाओं और परियोजनाओं के रूप में बजट के कुल आवंटन में सबसे अधिक 23.45 फीसदी हिस्सेदारी परिवहन क्षेत्र की थी. शिक्षा की 19.52 फीसदी, चिकित्सा एवं लोक स्वास्थ्य की 13.74 फीसदी, सामाजिक सुरक्षा की 11.74 फीसदी, जलापूर्ति तथा साफ-सफाई की 8.66 फीसदी, ऊर्जा की 8.53 फीसदी और आवास एवं शहरी विकास की 8.51 फीसदी थी.

विनिर्माण से होने वाली दिल्ली की आय 2021-22 में बढ़कर 42,230 करोड़ रुपये हो गई जो 2011-12 में 18,907 करोड़ रुपये थी.

Tags: AAP, Arvind kejriwal, Delhi, Goa, Sikkim

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर