Weather Updates: दिल्ली में 2008 के बाद सबसे ठंडा रहा मई का महीना, तापमान में कमी का ये है सबसे बड़ा कारण

दिल्ली में तापमान में दर्ज की जा रही गिरावट का मुख्य कारण चक्रवाती तूफान ताउते बताया जा रहा है.

दिल्ली में तापमान में दर्ज की जा रही गिरावट का मुख्य कारण चक्रवाती तूफान ताउते बताया जा रहा है.

Delhi Weather updates: आईएमडी ने बताया कि दिल्ली में इस साल मई में 144.8 मिमी बारिश दर्ज की गई, जो पिछले 13 साल में इस महीने में सबसे ज्यादा है. श्रीवास्तव ने बताया कि मई 2008 के बाद सबसे ज्यादा बारिश हुई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दिल्ली में मई के महीने में औसत अधिकतम तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो इस महीने में पिछले (Delhi Weather Updates) 13 वर्षों में सबसे कम है. आईएमडी ने बताया कि 2014 के बाद यह पहली बार है कि सफदरजंग वेधशाला में मानसून पूर्व अवधि में लू का चलना रिकॉर्ड नहीं किया गया.

आईएमडी में क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि मई में शहर में औसत अधिकतम तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. आईएमडी के मुताबिक, शहर में 19 मई को अधिकतम तापमान 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो सामान्य से 16 डिग्री कम और मई के महीने में 1951 के बाद सबसे कम था.

चक्रवात ताउते के कारण हुई रिकॉर्ड बारिश

श्रीवास्तव ने कहा पहले तो पश्चिमी विक्षोभ के कारण पारा नियंत्रण में रहा और बाद में चक्रवात ताउते की वजह से ‘रिकॉर्ड’ बारिश हुई. उन्होंने बताया कि 2011 के बाद यह पहली बार है कि पालम ने मानसून पूर्व अवधि में लू का चलना रिकॉर्ड नहीं किया. मैदानी इलाकों में लू का चलना तब घोषित किया जाता है जब अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक और सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री ज्यादा हो.
ये भी पढ़ेंः- महाराष्ट्र में घटकर 15 हजार पर आए कोरोना संक्रमण के मामले, मौत के आंकड़ों का ग्राफ भी गिरा


पिछले 13 साल में मई में सबसे ज्यादा बारिश



आईएमडी ने बताया कि दिल्ली में इस साल मई में 144.8 मिमी बारिश दर्ज की गई, जो पिछले 13 साल में इस महीने में सबसे ज्यादा है. श्रीवास्तव ने बताया कि मई 2008 के बाद सबसे ज्यादा बारिश हुई है. उन्होंने कहा, “ अगले चार -पांच दिन बारिश होने का कोई अनुमान नहीं जताया गया है.”

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज