कोरोना की चौथी लहर से दिल्ली बेहाल, 1 से 15 अप्रैल तक संक्रमण के मामलों में 417 प्रतिशत की वृद्धि

वीकेंड लॉकडाउनः दिल्ली में शुक्रवार शाम से सब बंद कर दिया जाएगा. यह पाबंदी सोमवार सुबह तक लागू रहेगी.

वीकेंड लॉकडाउनः दिल्ली में शुक्रवार शाम से सब बंद कर दिया जाएगा. यह पाबंदी सोमवार सुबह तक लागू रहेगी.

Coronavirus cases in Delhi: 1 अप्रैल को राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के 10,498 एक्टिव कोरोना वायरस केस थे, लेकिन गुरुवार तक शहर में 54,309 एक्टिव केस हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 6:08 PM IST
  • Share this:
 नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus in India) की चौथी लहर ने दिल्ली को बेहाल कर दिया है. दरअसल राजधानी में 1 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच संक्रमण के मामलों में 417.32 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है, जोकि महाराष्ट्र और मुंबई में दर्ज किए जा रहे संक्रमण के मामलों के मुकाबले काफी ज्यादा है. सरकारी आंकड़ों की बात करें तो दिल्ली में आ रहे मामले राष्ट्रीय स्तर से भी ज्यादा है. 1 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच मुंबई में कोरोना के एक्टिव मामलों में 55.42 प्रतिशत का इजाफा दर्ज किया गया था, जबकि इस अवधि में पूरे महाराष्ट्र के स्तर पर संक्रमण के मामलों में 69.16 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक राष्ट्रीय स्तर पर 1 से 15 अप्रैल के बीच संक्रमण के एक्टिव मामलों में 152 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 17,000 से ज्यादा केस आए थे, जिसके बाद से देश में सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में राजधानी का नंबर सबसे ऊपर हो गया है. इस तरह दिल्ली, मुंबई से आगे निकल गई. मुंबई में एक दिन के सबसे ज्यादा मामलों की बात करें तो ये संख्या 4 अप्रैल को 11,163 की रही. संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान किया है.

Youtube Video


हालांकि दिल्ली में नाइट कर्फ्यू का ऐलान एक हफ्ते पहले ही कर दिया गया था. 1 अप्रैल को राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के 10,498 एक्टिव कोरोना वायरस केस थे, लेकिन गुरुवार तक शहर में 54,309 एक्टिव केस हैं. इस तरह एक्टिव मामलों में 417.32 फीसदी या 43,811 मामलों की वृद्धि है. दिल्ली के मुकाबले 1 अप्रैल को मुंबई में कोरोना वायरस के एक्टिव मामले 55,005 थे. मायानगरी में अब ये आंकड़ा बढ़कर 85,494 हो गया है, जोकि 55.42 फीसदी या 30,489 केस ज्यादा हैं.


दूसरी ओर कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र के एक्टिव मामलों की बात करें तो गुरुवार तक ये आंकड़ा 6,20,060 था, लेकिन 1 अप्रैल को महाराष्ट्र में सिर्फ 3,66,533 मामले थे. उसके बाद से राज्य स्तर पर एक्टिव मामलों में 69.16 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज