Delhi Riots: वॉट्सऐप ग्रुप पर बना था मस्जिद तोड़ने, पुलिस पर मिर्च पाउडर फेंकने का प्लान- पुलिस चार्जशीट

चार्जशीट के मुताबिक, ये वॉट्सऐप ग्रुप 25 फरवरी को मुस्लिम संप्रदाय से कथित तौर पर बदला लेने के मकसद से क्रिएट किया गया था. (PTI)
चार्जशीट के मुताबिक, ये वॉट्सऐप ग्रुप 25 फरवरी को मुस्लिम संप्रदाय से कथित तौर पर बदला लेने के मकसद से क्रिएट किया गया था. (PTI)

Delhi Riots Chargesheet: दिल्ली पुलिस ने एक अदालत में दायर अपनी पूरक चार्जशीट में कहा है कि फरवरी में पूर्वोत्तर दिल्ली के दंगों को भड़काने में वॉट्सऐप ग्रुप (Whatsapp Group Chat) कट्टर हिंदू एकता' ने बहुत बड़ी भूमिका अदा की. इस ग्रुप में दूसरे संप्रदाय को लेकर कट्टर और भड़काऊ मैसेज शेयर किए गए, जिससे सांप्रदायिक सद्भाव को नुकसान पहुंचा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 3:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्वी दिल्ली में इस साल फरवरी में हुए दंगों (Delhi Riots) के मामले में पुलिस ने एक और पूरक चार्जशीट (Chargesheet) दाखिल की है. चार्जशीट में सबूत के तौर पर वॉट्सऐप ग्रुप चैट (Whatsapp Group Chat) और कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड (CDR) को भी शामिल किया गया है. चार्जशीट में कहा गया है कि वॉट्सऐप ग्रुप के जरिए दिल्ली को जलाने की साजिश रची गई.

दिल्ली पुलिस ने एक अदालत में दायर अपनी पूरक चार्जशीट में कहा है कि फरवरी में पूर्वोत्तर दिल्ली के दंगों को भड़काने में वॉट्सऐप ग्रुप 'कट्टर हिंदू एकता' ने बहुत बड़ी भूमिका अदा की. इस ग्रुप में दूसरे संप्रदाय को लेकर कट्टर और भड़काऊ मैसेज शेयर किए गए. जिससे सांप्रदायिक सद्भाव को नुकसान पहुंचा. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने तकरीबन 4 दर्जन से ज़्यादा लोगों के वॉट्सऐप चैट्स को खंगाला है. इन चैट्स में कई हैरान करने वाली जानकारी स्पेशल सेल को मिली, जिसके आधार पर कई आरोपियों की गिरफ्तारी हुई. इन चैट्स के आधार पर जल्द ही कुछ और गिरफ्तारियां भी संभव हैं.

दिल्ली हिंसा: कोर्ट में चार्जशीट दाखिल, दंगा फैलाने के लिए बनाया गया था WhatsApp ग्रुप



चार्जशीट के मुताबिक, एक वॉट्सऐप ग्रुप में मुसलमानों के लिए गुलाम शब्द का इस्तेमाल किया गया. साथ ही मदरसों, मस्जिदों को बर्बाद करने और मंदिर में बदलने, मुसलमानों की हत्या करने की बात भी शेयर की गई.


चार्जशीट के मुताबिक, ये वॉट्सऐप ग्रुप 25 फरवरी को मुस्लिम संप्रदाय से कथित तौर पर बदला लेने के मकसद से क्रिएट किया गया था. इसमें एक मेंबर लिखती है, 'आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) के लोग उनका समर्थन करने आए हैं.' पुलिस ने चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पुरुषोत्तम पाठक के समक्ष 26 सितंबर को ये दंगे के दौरान गोकुलपुरी में हुई हाशिम अली की हत्या के मामले में 9 लोगों के खिलाफ ये पूरक चार्जशीट फाइल की है.


वॉट्सऐप ग्रुप में हुई बातचीत के अनुसार, आरोपियों ने हिंदुओं पर हुए हमला को लेकर मुसलमानों को सबक सिखाने की साजिश रची. वे लाठी, डंडा, तलवार और देसी कट्टा लेकर हाशिम अली और उनके भाई आमिर खान के घर घुस गए. पहले घरों में जमकर तोड़फोड़ और लूटपाट की, फिर निर्दोष मुस्लिम व्यक्तियों को मार डाला. पुलिस ने चार्जशीट में कहा है कि यह पता चला है कि आरोपियों ने ऐसा एक सोची-समझी साजिश के तहत किया था.

एक और वॉट्सऐप ग्रुप में एक सदस्य दूसरे सदस्य को कह रहा है, 'मैं पढ़ा-लिखा नहीं हूं, लेकिन मैं इतना बता सकता हूं कि पिछली रात में रोड ब्लॉक करने का जो तुम्हारा प्लान था, उसके बारे में स्थानीय लोग सब जानते हैं. तुम्हारा जो प्लान है उससे हिंसा भड़क सकती है. इसलिए आग से मत खेलो, ये केवल तुम्हें ही नहीं बल्कि हम सबको नुकसान पहुंचाएगा. हमारा प्रदर्शन अहिंसात्मक होगा. हम विचारों के जरिये लोगों को प्रभावित करेंगे
.'

दूसरा सदस्य इसी के जवाब में कहता है, 'बिल्कुल, कोर्ट ने भी यही कहा है कि अगर सब लोग रोड ब्लॉक करना शुरू कर देंगे तो क्या होगा. तकनीकी तौर पर हमें कोर्ट की सुनवाई से पहले ये नहीं करना चाहिए.'

अगला सदस्य कहता है, 'तुम लोगों ने लाल मिर्च पाउडर के डिब्बे पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों पर हमला करने के लिए महिलाओं को क्यों बांटे हैं? तुम हमारे साथ ये क्या कर रहे हों?' इसके जवाब में एक अन्य सदस्य कहता है, 'पिंजरा तोड़ ने कहा है कि कफन बांध कर आये हैं और जो हमारे साथ नहीं वो देश का गद्दार है.'

दिल्ली हिंसा: चार्जशीट में दावा- 2019 के नतीजों के बाद ही शुरू हो गई थी हिंसा की प्लानिंग

17 हजार पन्नों से ज्यादा की मुख्य चार्जशीट
बता दें कि आरोपियों के खिलाफ अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) और IPC की विभिन्न धाराओं के तहत चार्जशीट दाखिल की गई है. 17 हजार पन्नों से ज्यादा की इस चार्जशीट में 747 गवाहों के नाम हैं. इनमें से 51 गवाहों ने मजिस्ट्रेट के समक्ष अपने बयान दर्ज कराए. इस मामले में अभी जांच चल रही है. (PTI इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज