Home /News /nation /

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी की योजना, वीर सावरकर और सुषमा स्‍वराज के नाम पर खुलेंगे 2 नए कॉलेज

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी की योजना, वीर सावरकर और सुषमा स्‍वराज के नाम पर खुलेंगे 2 नए कॉलेज

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी 2 नए कॉलेज खोलने की कर रही तैयारी. (File pic)

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी 2 नए कॉलेज खोलने की कर रही तैयारी. (File pic)

Delhi University New Colleges: इस योजना पर दिल्‍ली यूनिवर्सिटी के रजिस्‍ट्रार का कहना है कि दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय ने अपने 100 साल पूरे कर लिए हैं. इस समय विश्‍वविद्यालय सीटों की कमी से जूझ रहा है. इसलिए 2 से 3 नए कॉलेज खोलने की योजना बनाई गई है. यूनिवर्सिटी के पास जमीन भी है. फतेहपुर बेरी, द्वारका और पूर्वी दिल्‍ली में ये कॉलेज खोले जाएंगे. उनका कहना है कि यूनिवर्सिटी की ओर से सरकार से फंड की संभावना जताई जा रही है. इन कॉलेजों का नाम वीर सावरकर और सुषमा स्‍वराज के नाम पर होगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं को बेहतर पढ़ाई का अवसर उपलब्‍ध कराने के उद्देश्‍य से दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय (Delhi University) जल्‍द ही दो नए कॉलेज खोलने (DU College) की योजना पर काम कर रहा है. इनके नाम वीर सावरकर (Veer Savarkar) और सुषमा स्‍वराज (Sushma Swaraj) के नाम पर रखे जाने का प्रस्‍ताव है. दिल्‍ली यूनिवर्सिटी (DU) की ओर से इन कॉलेजों को खोलने का प्रस्‍ताव मंत्रालय को भेज दिया गया है. विश्‍वविद्यालय के इस प्रस्‍ताव की बीजेपी ने सराहना की है. दिल्‍ली यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर ने इस मामले में कहा है कि 2 नए कॉलेज जल्‍द ही खोलने की योजना है. इनमें से एक कॉलेज फतेहपुर बेरी और दूसरा कॉलेज द्वारका में खोला जाएगा.

अगस्‍त में इस संबंध में एक्‍जीक्‍यूटिव काउंसिल की बैठक भी हो चुकी है. इसमें सभी सदस्‍यों ने इस प्रस्‍ताव पर मुहर लगाई है. अब प्रस्‍ताव मंत्रालय को भेज दिया गया है. वहीं दिल्‍ली यूनिवर्सिटी के रजिस्‍ट्रार का कहना है कि दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय ने अपने 100 साल पूरे कर लिए हैं. इस समय विश्‍वविद्यालय सीटों की कमी से जूझ रहा है. इसलिए 2 से 3 नए कॉलेज खोलने की योजना बनाई गई है. हमारे पास जमीन भी है. फतेहपुर बेरी, द्वारका और पूर्वी दिल्‍ली में ये कॉलेज खोले जाएंगे.

रजिस्‍ट्रार का कहना है कि यूनिवर्सिटी की ओर से सरकार से फंड की संभावना जताई जा रही है. इन कॉलेजों का नाम वीर सावरकर और सुषमा स्‍वराज के नाम पर होगा. हालांकि इस पर अंतिम फैसला वाइस चांसलर करेंगे. इस संबंध में 15 सितंबर को मंत्रालय को प्रस्‍ताव भेज दिया गया है. अब तक सिर्फ मामले में प्रस्‍ताव ही भेजा गया है.

यूनिवर्सिटी के इस कदम पर बीजेपी की राष्‍ट्रीय महामंत्री और डूसू की पूर्व सचिव दीप्ति रावत ने कहा, ‘कॉलेजों का नाम वीर सावरकर और सुषमा स्वराज के नाम पर रखने के फैसले का हम स्वागत करते हैं. हमारी आने वाली पीढ़ियों को ये पता चलना चाहिए कि देश के लिए किस किसने त्याग किया और बलिदान किया.’ वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ला का कहना है कि वीर सावरकर और सुषमा स्वराज के नाम पर कॉलेजों का नाम रखने का फैसला अत्यंत प्रशंसनीय है.

Tags: Delhi University

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर