लाइव टीवी

दिल्ली हिंसा: गृह मंत्रालय ने शांति बहाल करने के लिए ऐसे सिलसिलेवार तरीके से उठाए कदम

अमित पांडेय | News18Hindi
Updated: February 26, 2020, 11:57 PM IST
दिल्ली हिंसा: गृह मंत्रालय ने शांति बहाल करने के लिए ऐसे सिलसिलेवार तरीके से उठाए कदम
गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक दिल्ली हिंसा के बाद जब अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप वापस अमेरिका लौटे तो उसके बाद पीएमओ के निर्देश पर एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई. (File Photo)

गृह मंत्रालय (Home Ministry) सूत्रों के मुताबिक दिल्ली हिंसा के बाद जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (American President Donald Trump) वापस अमेरिका (America) लौटे तो उसके बाद पीएमओ (PMO) के निर्देश पर एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2020, 11:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने पिछले तीन दिनों में कई बैठकें की है और राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा प्रभावित इलाके में हालात पर करीब से नजर रखे हुए हैं. इस घटना के बाद गृह मंत्री और गृह मंत्रालय (Home Ministry) द्वारा सिलसिलेवार तरीके से कदम उठाए गए.

24 फरवरी, शाम 4:00 बजे
हिंसा के घटना की खबर सामने आई जिसके बाद गृह मंत्री ने उच्चस्तरीय बैठक बुलाई, इस बैठक में होम सेकेट्री, डायरेक्टर आईबी, दिल्ली पुलिस कमिश्नर और अन्य आला अधिकारी मौजूद रहे. आला अधिकारियों के साथ हुई यह बैठक करीब 3 घंटे तक चली. इस बैठक में गृह मंत्री ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए. इसके बाद रात 1:00 बजे गृह मंत्री और आला अधिकारियों द्वारा एक बार फिर पूरे हालात की समीक्षा की गई.

25 फरवरी, सुबह 9:00 बजे



गृहमंत्री ने करीब 8 घंटे बाद आला अधिकारियों के साथ एक बार फिर हालात की समीक्षा की और अधिकारियों को मौके पर मौजूद रहने का निर्देश दिए.  इसी दिन दोपहर 12:00 बजे दिल्ली के मुख्य राजनीतिक दलों के साथ गृहमंत्री ने बैठक की और शांति कमेटी को प्रभावशाली ढंग से बनाने का संबंधित लोगों को निर्देश दिया. इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, दिल्ली एलजी अनिल बैजल, कांग्रेस नेता सुभाष चोपड़ा, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी मौजूद थे. इसी दिन 1:30 बजे गृह मंत्री अमित शाह ने गृह सचिव और आईबी डायरेक्टर से मुलाकात की. शाम 6:00 बजे एसएन श्रीवास्तव को स्पेशल कमिश्नर ऑफ पुलिस अपॉइंट किया गया.

शाम 6:30 बजे एक बार फिर होम सेक्रेट्री डायरेक्टर आईबी डिप्टी एनएसए, दिल्ली पुलिस कमिश्नर और दिल्ली पुलिस स्पेशल कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव के साथ बैठक की गई. गृह मंत्री द्वारा इस बैठक के बाद भी रात 2:00 बजे तक गृह मंत्री और गृह मंत्रालय द्वारा लगातार हर घंटे मौके की जानकारी और ब्रीफिंग ली जाती रही.

पीएमओ के निर्देश पर बुलाई गई उच्चस्तरीय बैठक
गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक दिल्ली हिंसा के बाद जब अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप वापस अमेरिका लौटे तो उसके बाद पीएमओ के निर्देश पर एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई. इस बैठक में गृहमंत्री ने हालात की समीक्षा की. गृहमंत्री ने दिल्ली पुलिस के हर वरिष्ठ अधिकारी से बातचीत की और जानकारी ली. फिर एनएसए अजीत डोवाल की भूमिका को सामने लाया गया, जिसके बाद एनएसए दंगा प्रभावित इलाकों में गए. दौरे के बाद एनएसए ने पीएम और कैबिनेट को ग्राउंड सिचुएशन की जानकारी दी.

एनएसए की इस गहन समीक्षा में ये बात भी सामने आई कि दिल्ली पुलिस को हिंसाग्रस्त अंदरूनी इलाकों में और ज्यादा मौजूदगी बढ़ानी चाहिए. जिसके बाद अर्धसैनिक बलों की संख्या को बढ़ाया गया, खुद एनएसए हर पहलू की बारीकी से जानकारी ले रहे हैं और गृहमंत्री को इसकी जानकारी दे रहे हैं. पिछले 24 घंटों में हालात में सुधार हुआ है और हिंसा में कमी आई है, हालात सामान्य की दिशा में भी बढ़ रहे हैं.

ये भी पढ़ें-
दिल्ली हिंसा: मदद या जानकारी देने के लिए इन नंबरों पर कर सकते हैं फोन

News18 की रिपोर्टर ने बताया कैसा था दिल्ली हिंसा का खौफनाक मंज़र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 11:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर