• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • WHO ने कोरोना के डेल्टा वेरिएंट को माना सबसे खतरनाक, अब तक 185 देशों में मिले मरीज

WHO ने कोरोना के डेल्टा वेरिएंट को माना सबसे खतरनाक, अब तक 185 देशों में मिले मरीज

दुनियाभर में कोरोना का डेल्‍टा वेरिएंट खतरनाक रूप लेने लगा है. ( कॉन्सेप्ट इमेज)

दुनियाभर में कोरोना का डेल्‍टा वेरिएंट खतरनाक रूप लेने लगा है. ( कॉन्सेप्ट इमेज)

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है कि डेल्टा कोविड वेरिएंट (Delta Covid Variant) वर्तमान में सबसे प्रभावी संक्रामक वायरस स्ट्रेन (infectious virus strain) है जिसके 21 सितंबर तक 185 देशों में पाए जाने की खबर है. जीआईएसएआईडी ने 15 जून से 15 सितंबर के बीच जो सैंपल डाटा इकट्ठा किया उसमें 90 फीसद में डेल्टा वेरिएंट पाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है कि डेल्टा कोविड वेरिएंट (Delta Covid Variant) वर्तमान में सबसे प्रभावी संक्रामक वायरस स्ट्रेन (infectious virus strain) है जिसके 21 सितंबर तक 185 देशों में पाए जाने की खबर है. जीआईएसएआईडी ने 15 जून से 15 सितंबर के बीच जो सैंपल डाटा इकट्ठा किया उसमें 90 फीसदी में डेल्टा वेरिएंट पाया गया है. विश्व स्वास्थ्य एजेंसी ने अपने साप्ताहिक महामारी अपडेट के दौरान ये जानकारी दी. जीआईएसएआईडी का मतलब है ग्लोबल इनीशियेटिव ऑन शेयरिंग एवियन इन्फ्लूएंजा डेटा, ये सबके लिए उपलब्ध डेटाबेस है.

    विश्व स्वास्थ्य संगठन की तकनीकी प्रमुख मारिया वेन केरखोव (Maria Van Kerkhove) का कहना है कि अल्फा, बीटा और गामा स्ट्रेन वर्तमान में एक फीसद से भी कम है, यानि दुनियाभर में डेल्टा ही प्रमुख रूप से मौजूद है. उनका कहना है कि डेल्टा ज्यादा संक्रामक और ताकतवर है. इसने बाकी सारे वायरस स्ट्रेन की जगह ले ली है.

    ये भी पढ़ें : खाएंगे खिलाएंगे और सबको लुटवाएंगे मॉडल’: सरकार पर बरसे कांग्रेसी नेता रणदीप सुरजेवाला

    ये भी पढ़ें : Mahant Giri Suicide: महंत नरेंद्र आत्महत्या मामले में आनंद गिरि को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

    वहीं यूएन हेल्थ एजेंसी ने ईटीए ( 81 देशों में मौजूद), आयोटा (49 देशों में पाया गया) और कप्पा ( 57 देशों में फैला) को लेकर अपने वर्गीकरण में सुधार करते हुए इन्हें वेरिएंट ऑफ इंट्रेस्ट से वेरिएंट अंडर मॉनिटरिंग की श्रेणी में डाल दिया है क्योंकि दुनियाभर में इनकी संख्या में कमी देखी गई है. ये सुधार बताता है कि दुनियाभर में डेल्टा वेरिएंट कितने प्रभावी और तेजी से फैल रहा है.

    यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेन्शन की रिपोर्ट के मुताबिक तेजी से फैलने वाले डेल्टा वेरिएंट ने टेक्सास की फेडरल जेल में बंद कैदियों को भी अपना  शिकार बनाया है. यहां पूरी तरह से वैक्सीन लगे हुए और जिन्हें वैक्सीन नहीं लगा है दोनों प्रकार के कैदियों को संक्रमित कर दिया है. जेल में बंद 233 लोगों में से 79 फीसद लोगों को कोविड-19 के खिलाफ टीका लगाया गया था. जुलाई और अगस्‍त के बीच, जेल में बंद 74 फीसद आबादी कोविड से संक्रमित पाई गई थी. यह जानकारी वीकली रिपोर्ट से मिली.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज