Coronavirus: डेल्टा प्लस वेरिएंट ने बजाई खतरे की घंटी, पंजाब-महाराष्ट्र समेत कई राज्यों से मिल रहे हैं केस

भारत में डेल्टा प्लस के मामले भी पाए जा रहे हैं.

Delta Plus Variant: एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर भारत में कोरोना की तीसरी लहर आती है तो फिर इसके लिए डेल्टा प्लस वेरिएंट ही ज़िम्मेदार होगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देशभर में कोरोना की दूसरी लहर (Coronavirus 2nd Wave) अब लगभग थम सी गई है. लेकिन तीसरी लहर का खतरा लगातार मंडरा रहा है. इसकी सबसे बड़ी वजह है कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट (Delta Plus Variant). कोरोना का ये वायरस देशभर में तेज़ी से फैल रहा है. भारत के कई राज्यों से अब इस वेरिएंट से जुड़े केस लगातार सामने आ रहे हैं. बता दें कि कोरोना का ये नया रूप डेल्टा वेरिएंट (B.1.617.2) में ही म्यूटेशन के बाद दिखा है.

    वैसे तो पूरे देश से से डेल्टा प्लस वेरिएंट के 41 मामले सामने हैं, जिसमें सबसे ज्यादा 21 मामले महाराष्ट्र में हैं. इसके बाद मध्य प्रदेश की बारी आती है. यहां डेल्टा वेरिएंट के 6 केस मिले हैं. जबकि तमिलनाडु और केरल से 3-3 केस सामने आए हैं. महाराष्ट्र में भी सबसे ज्यादा 9 मामले रत्नागिरी, फिर 7 जलगांव, 2 मुंबई और एक-एक पालघर, थाने और सिंधुदुर्ग में है. केरल में मिले तीन मामले पलक्कड़ और पथनमथिट्टा से हैं. इनमें से एक मामला चार वर्षीय बच्चे का भी है.

    मध्य प्रदेश  में डेल्टा प्लस वेरिएंट
    मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य में अब तक पांच लोग कोरोना वायरस के ‘डेल्टा प्लस’ स्वरूप से संक्रमित पाए गए हैं जिनमें से एक मरीज के मौत हो गई है. सारंग ने बताया कि कोरोना वायरस के ‘डेल्टा प्लस’ स्वरूप से संक्रमित उज्जैन निवासी एक मरीज की मौत हो गई जिसने कोविड-19 रोधी टीका नहीं लगवाया था. उन्होंने कहा कि चार अन्य मरीज ठीक हैं जिन्होंने कोविड-19 रोधी टीका लगवाया था. मंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश में अब तक भोपाल में तीन और उज्जैन में दो व्यक्ति कोरोना वायरस के ‘डेल्टा प्लस’ स्वरूप से संक्रमित पाए गए हैं.

    ये भी पढ़ें:- तो जम्मू-कश्मीर का विश्वास जीतने में लगी है BJP? अब आर्टिकल 371 बनेगा सहारा!

    तीसरी लहर का खतरा
    एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर भारत में कोरोना की तीसरी लहर आती है तो फिर इसके लिए डेल्टा प्लस वेरिएंट ही ज़िम्मेदार होगा. साथ ही ये भी दावा किया गया है कि इस वेरिएंट से एक्टिव केस 8 से 10 लाख तक जा सकते हैं, जिसमें से 10 प्रतिशत संख्या बच्चों की हो सकती है. कहा जा रहा है कि कोरोना का ये नया वेरिएंट इम्यून सिस्टम को भी चकमा दे सकता है.

    WHO ने दी चेतावनी
    इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी कोरोना के डेल्टा वेरिएंट को लेकर पूरी दुनिया को चेतावनी दी है. WHO के मुताबिक डेल्टा वेरिएंट अब तक दुनिया के 85 देशों में फैल चुका है और ये ट्रेंड जारी रहा तो फिर कई और देशों में तबाही मच सकती है. कहा जा रहा है कि कोरोना का अल्फा वेरिएंट 170 देशों में फैल गया है. बीटा 119 देशों को परेशान कर रहा है. जबकि 71 देशों में गामा वेरिएंट मिले हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.