लाइव टीवी

करतारपुर के बाद लोकसभा में उठी शारदा पीठ के लिए PoK में कॉरिडोर की मांग

भाषा
Updated: November 29, 2019, 5:43 PM IST
करतारपुर के बाद लोकसभा में उठी शारदा पीठ के लिए PoK में कॉरिडोर की मांग
करतारपुर की तरह शारदा पीठ के लिए कॉरिडोर की मांग लोकसभा में उठी

करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) के बाद लोकसभा (Loksabha) में शारदा पीठ (Sharda Peeth) के लिए कॉरिडोर (Corridor) बनाने का मुद्दा उठाया. यह मुद्दा उठाते हुए जगदंबिका पाल (Jagdambika Pal) ने कहा कि यह ऐतिहासिक कदम मोदी सरकार ही उठा सकती है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. भाजपा सांसद जगदंबिका पाल (Jagdambika Pal) ने करतारपुर साहिब (Kartarpur Corridor) की तरह पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले कश्मीर/पीओके (PoK) में स्थित शारदा पीठ (Sharda Peeth) के लिए कॉरिडोर की मांग शुक्रवार को लोकसभा (Lok Sabha) में उठाई जिसका कई सदस्यों ने समर्थन किया. सदन में शून्यकाल के दौरान उत्तर प्रदेश के डुमरियागंज से लोकसभा सदस्य पाल ने यह मुद्दा उठाया और कहा कि ऐतिहासिक कदम उठाने वाली नरेंद्र मोदी सरकार (PM Narendra Modi) यह कर सकती है.

शारदा पीठ को भी बनाया जाए कॉरिडोर
जगदंबिका पाल ने कहा कि सिख समुदाय के लिए करतारपुर कॉरिडोर खोला गया और इसी तरह करोड़ों लोगों की भावना है कि शारदा पीठ के लिए भी कॉरिडोर बनना चाहिए. सदन में कई सदस्यों ने उनकी मांग का समर्थन किया. बीजेपी के राजू बिष्ट ने असम की एनआरसी से गोरखा समुदाय के कई लोगों का नाम बाहर रहने का मुद्दा उठाया और कहा कि इस समुदाय का देश में बहुत बड़ा योगदान रहा है और ऐसे में सरकार को इन लोगों को नागरिक घोषित करना चाहिए.

पीओके स्थित शारदा पीठ.


'गोरखा को मिले अनुसूचित जनजाति का दर्जा'
पाल ने यह भी कहा कि गोरखा को अनुसूचित जनजाति का दर्जा दिया जाए. लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने आदिवासी कुर्मी समुदाय का मुद्दा उठाया और कहा कि इन्हें अनुसूचित जनजाति का दर्जा दिया जाए जो फिलहाल ओबीसी की श्रेणी में शामिल हैं.

हनुमान बेनीवाल ने छात्रों पर हमले का मुद्दा उठाया
Loading...

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के हनुमान बेनीवाल ने विदेश में भारतीय छात्रों पर हमले का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इनकी सुरक्षा के लिए सरकार को ठोस कदम उठाना चाहिए. कांग्रेस के के. सुरेश ने सबरीमला मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए जगह की कमी का मु्द्दा उठाया और कहा कि इसके लिए सरकार को निकट के वनक्षेत्र की भूमि देनी चाहिए.

पाल ने कहा कि सबरीमाला के विकास के लिए पहले से घोषित 100 करोड़ रुपये की राशि तत्काल जारी की जाए. कांग्रेस की राम्या हरिदास और सप्तगिरि उल्का, भाजपा के भोला सिंह और जुगल किशोर शर्मा, बसपा के श्याम सिंह यादव तथा कई अन्य सदस्यों ने अलग अलग मुद्दे शून्यकाल में उठाए.

ये भी पढ़ें: OPINION: प्रज्ञा अकेली नहीं हैं, हमारी ‘प्रज्ञा’ को लकवा मार गया है

ये भी पढ़ें: बच्चों से जुड़ी अश्लील सामग्री वाली करीब 377 वेबसाइटों को हटाया गया : स्मृति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 5:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...