मेनका गांधी बोलीं महिलाओं से भरे जाएं पुरुष पुलिस के खाली पद

मेनका गांधी बोलीं महिलाओं से भरे जाएं पुरुष पुलिस के खाली पद
फाइल फोटो

मेनका गांधी ने भी पुलिस भर्ती में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग उठाई है.

  • Share this:
मेनका गांधी ने भी पुलिस भर्ती में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग उठाई है. इस संबंध में उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र भी लिखा है. उनका कहना है कि पुलिस में महिलाओं की अधिक संख्या होने से महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों में पुलिस की संवेदनशीलता में भी फर्क आएगा.

पहले भी राज्य पुलिस बल में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने की मांग उठती रही है. कई केन्द्र शासित प्रदेश तो पहले से ही पुलिस भर्ती में महिलाओं केा 33 प्रतिशत आरक्षण दे रहे हैं.

राज्य पुलिस में महिलाओं की ये है संख्या



मार्च 2017 में गृहमंत्रालय की ओर से जारी एक रिपोर्ट की मानें तो सभी 36 राज्यों में कुल महिला पुलिस अधिकारी और कर्मियों की संख्या 1.23 लाख है. इसमें से 7 डीजीपी और स्पेशल डीजी, 22 एडीजीपी, 38 आईजीपी, 25 डीआईजी, 221 एआईजीपी, एसएसपी, एसपी और सीओ हैं.
फाइल फोटो


189 एडीशनल एसपी और डिप्टी कमांडेंट, 564 एसएसपी, डिप्टी एसपी, असिस्टेंट कमांडेंट हैं. 1585 इंसपेक्टर, 6596 सब इंसपेक्टर, 3217 असिस्टेंट सब इंसपेक्टर, 7420 हैड कांस्टेबल, 19884 कांस्टेबल तैनात हैं.

पुलिस में महिला आरक्षण के लिय ये हो चुकी हैं कोशिश

- गृहमंत्रालय की ओर से सभी राज्यों को 33 प्रतिशत आरक्षण करने के लिए 2009 और 2013 में पत्र लिखा जा चुका है.

- सभी राज्यों से कहा गया है कि पुरुष कांस्टेबलों के पद को महिला कांस्टेबल के पदों में परिवर्तित करके भरा जाए.

- महिला कांस्टेबल और सब इंसपेक्टर के पद बढ़ाए जाएं.

- हर एक थाने में कम से कम तीन महिला सब इंसपेक्टर और 10 महिला कांस्टेबल रखी जाएं.

- महिला पुलिस स्वंय सेवी की भर्ती की जाए.

- महिला पुलिस स्वंय सेवी कम से कम 21 वर्ष की 12वीं पास होगी.

- महिला पुलिस स्वंय सेवी की भर्ती करने वाला हरियाणा पहला राज्य है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading