हमारे चिंता जताने के बावजूद BJP नेतृत्व का मुद्दे को हल नहीं करना दुर्भाग्यपूर्ण: अकाली दल

अकाली दल ने विधेयक को बताया दुर्भाग्यपूर्ण (फाइल फोटो)

शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) के वरिष्ठ नेता प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा, 'यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा ने हमारे चिंता व्यक्त करने और किसान समुदाय की भावनाओं को केंद्रीय नेतृत्व तक पहुंचाने के बावजूद मुद्दों का समाधान नहीं किया.'

  • Share this:
    चंडीगढ़. शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) ने शनिवार को कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कृषि सुधार विधेयकों को लेकर बीजेपी नेतृत्व को पार्टी की चिंताओं से अवगत कराने के बावजूद मुद्दों को सुलझाया नहीं गया. अकाली ने इसके साथ ही सभी राजनीतिक दलों से विधेयकों के खिलाफ अपने 'संघर्ष' में शामिल होने की अपील भी की.

    अकाली दल ने कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) पर किसानों के साथ धोखा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इन दलों ने लोकसभा में विधेयकों को पारित करने को लेकर विरोध नहीं जताया. सत्तारूढ़ भाजपा की सबसे पुरानी सहयोगी पार्टियों में से एक अकाली दल तीन कृषि विधेयकों का जबरदस्त विरोध कर रही है. हरसिमरत कौर बादल ने तीन कृषि विधेयकों के विरोध में गुरुवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था. वह नरेंद्र मोदी सरकार में शिअद से एकमात्र मंत्री थीं. ये विधेयक गुरुवार को लोकसभा में पारित हुए थे.

    अकाली दल ने विधेयक को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

    अकाली दल के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने यहां ऑनलाइन प्रेस वार्ता के दौरान कहा, 'यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा ने हमारे चिंता व्यक्त करने और किसान समुदाय की भावनाओं को केंद्रीय नेतृत्व तक पहुंचाने के बावजूद मुद्दों का समाधान नहीं किया.' उन्होंने कहा, 'हालांकि, हम किसानों के प्रति अपने कर्तव्यों को लेकर असफल नहीं होंगे और उनके एवं पंजाब के लिए न्याय सुनिश्चित करने को लेकर संघर्ष जारी रखेंगे.' चंदूमाजरा ने इस मुद्दे पर सभी राजनीतिक दलों से 'एक सोच और एक मंच' का गठन करने की अपील की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.