सुप्रीम कोर्ट ने 4 दिन पहले दिया था ऐसा ही ऑर्डर, फिर जज ने क्यों खारिज की चिदंबरम की अर्जी?

Utkarsh Anand | News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 2:43 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने 4 दिन पहले दिया था ऐसा ही ऑर्डर, फिर जज ने क्यों खारिज की चिदंबरम की अर्जी?
सीबीआई ने कल पी चिदंबरम को गिरफ्तार किया था

जस्टिस रमण सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के सीनियर जजों में एक हैं. चार दिन पहले यानी 16 अगस्त को उन्होंने बिना लिस्टिंग के ही एक केस की सुनवाई की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2019, 2:43 PM IST
  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को आईएनएक्स मीडिया (INX Media Case) से जुड़े मामले में पी चिदंबरम की अर्जी पर सुनवाई से मना कर दिया था. चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल बार-बार इस मामले पर सुनवाई का अनुरोध करते रहे, लेकिन जस्टिस एनवी रमण ने इस केस पर तुरंत सुनवाई से साफ-साफ इनकार कर दिया.

सुनवाई से इनकार
कपिल सिब्बल चाह रहे थे कि चिदंबरम की गिरफ्तारी पर रोक लगे, लेकिन जज रमन ने कहा, 'मैं कैसे बिना लिस्ट किए इस केस पर सुनवाई कर सकता हूं. ये नहीं हो सकता.' जस्टिस रमण की दलील थी कि चीफ जस्टिस इन दिनों अयोद्धा मामले पर सुनवाई कर रहे हैं और वो ही इस मामले पर कोई फैसला ले सकते हैं.

बिना लिस्टिंग सुनवाई

जस्टिस रमण सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जजों में से एक हैं. चार दिन पहले यानी 16 अगस्त को उन्होंने बिना लिस्टिंग के ही एक केस पर सुनवाई की थी. उस वक्त चीफ जस्टिस अयोध्या मामले की सुनवाई में व्यस्त थे.

क्या है पूरा मामला?
ये मामला भूषण स्टील के पूर्व सीएफओ और डायरेक्टर नितिन जौहरी का था. गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (SFIO) ने इस साल मई में उन्हें गिरफ्तार किया था. उन पर कंपनी के खातों और वित्तीय ब्यौरों में हेर-फेर समते कई फर्जीवाड़े के आरोप थे. लेकिन 14 अगस्त को दिल्ली हाई कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी. इसके बाद 16 अगस्त को SFIO ने उनकी ज़मानत पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया. इसके बाद जस्टिस रमण ने केस को बिना लिस्ट किए उस पर सुनवाई की. SFIO ने दलील दी कि अगर जौहरी को जमानत मिल जाती है तो फिर वो विदेश भाग सकते हैं.
Loading...

सिब्बल ने दिया इस केस का हवाला
कपिल सिब्बल ने बुधवार को जस्टिस रमण को उनके ही इस फैसले की याद दिलाई और कहा कि वो इसी आधार पर मामले की तुरंत सनवाई करे, लेकिन जस्टिस रमन ने उनकी इस दलील को खारिज कर दिया. उन्होंने कहा, 'वो एक अलग केस था. आरोपी जौहरी विदेश भाग सकता था.'

ये भी पढ़ें- इमरान ने दी परमाणु युद्ध की धमकी, कहा- बातचीत नहीं होगी

रविदास मंदिर: चन्द्रशेखर की गिरफ्तारी पर भड़कीं प्रियंका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 12:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...