Home /News /nation /

महिलाओं को मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट के बारे में जागरूक कर रहे हैं देवेंद्र त्रिपाठी

महिलाओं को मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट के बारे में जागरूक कर रहे हैं देवेंद्र त्रिपाठी

फाइल फोटो...

फाइल फोटो...

महिलाओं और निर्णयकर्ताओं के लिए सुरक्षित गर्भपात सेवाओं को अधिक सहज बनाने की आवश्यकता अनवरत चलती रहनी चाहिए: भौगोलिक पहुंच बढ़ाना; सामर्थ्य में वृद्धि; उच्च गुणवत्ता वाली गर्भपात देखभाल प्रदान करना और सेवाओं की गोपनीयता को प्राथमिकता देना. इसी क्रम में सांझा प्रयास एक स्वैक्षिक संगठनों का नेटवर्क है जिसके माध्यम से जनसमुदाय, सरकारी अधिकारियों, नीतिनिर्धारकों एवं समुदाय आधारित गैर सरकारी संगठनों तक प्रजनन स्वास्थ्य, सुरक्षित गर्भपात सेवाएं एवं गर्भपात पश्चात परिवार नियोजन सेवाओं के बारे में जानकारी पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है. यह नेटवर्क उत्तर प्रदेश एवं बिहार के 20 जनपदों में कार्य कर रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट 1971 के अनुसार हमारे देश में गर्भपात कानूनी है. हालांकि, इस कानून के 50 साल बाद भी ज्यादातर महिलाएं अभी भी सामाजिक,आर्थिक और पारिवारिक बाधाओं एवं जानकारी के अभाव के कारण सुरक्षित गर्भपात सेवाओं के लिए प्रशिक्षित सेवा प्रदाताओं एवं गर्भपात सेवा देने वाली स्वास्थ्य इकाईयों तक नहीं पहुंच पाती और अप्रशिक्षित सेवा प्रदाताओं की ओर रुख करती हैं, जिसके फलस्वरूप उन्हें अनेकों समस्याओं का सामना करना पड़ता है.  महिलाओं और निर्णयकर्ताओं के लिए सुरक्षित गर्भपात सेवाओं को अधिक सहज बनाने की आवश्यकता अनवरत चलती रहनी चाहिए: भौगोलिक पहुंच बढ़ाना; सामर्थ्य में वृद्धि; उच्च गुणवत्ता वाली गर्भपात देखभाल प्रदान करना और सेवाओं की गोपनीयता को प्राथमिकता देना.

    इसी क्रम में सांझा प्रयास एक स्वैक्षिक संगठनों का नेटवर्क है जिसके माध्यम से जनसमुदाय, सरकारी अधिकारियों, नीतिनिर्धारकों एवं समुदाय आधारित गैर सरकारी संगठनों तक प्रजनन स्वास्थ्य, सुरक्षित गर्भपात सेवाएं एवं गर्भपात पश्चात परिवार नियोजन सेवाओं के बारे में जानकारी पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है. यह नेटवर्क उत्तर प्रदेश एवं बिहार के 20 जनपदों में कार्य कर रहा है. नेटवर्क के सदस्यों का समय समय पर संबंधित विषयों पर क्षमतावर्धन किया जा रहा है जिससे वे अपने जनपद में यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकार संबंधित सेवाओं के बारे में जन जागरूकता एवं सेवाओं तक समुदाय की पहुंच सुनिश्चित कर पाएं. साथ ही स्थानीय मीडिया को भी यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकार विषय पर संवेदित कर क्षेत्र स्तर पर की जा रही गतिविधियों को साझा किया जा रहा है. ब्लॉक, जनपद एवं राज्य स्तर पर सरकारी एवं गैरसरकारी मंचों पर नेटवर्क के कार्यों को साझा किया जा रहा है, जिससे हर स्तर पर नीतिनिर्धारक संवेदित हो सकें और एक अनुकूल वातावरण का निर्माण हो सके.

    लगभग तीन साल के कार्य के अनुभव बताते है कि हमें प्रजनन एवं यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने हेतु कुछ विशेष वर्ग जैसे किशोर, नव विवाहित युगल एवं समुदाय के वंचित महिलाओं तक यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकार पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है और उनका चुनाव प्राथमिकता के आधार पर किया जाना चाहिए. सुरक्षित गर्भपात सेवाओं की उपलब्धता और असुरक्षित गर्भपात के खतरों के बारे में प्रजनन आयु की महिलाओं और पुरुषों के बीच जागरूकता बढ़ाना; प्रजनन स्वास्थ्य देखभाल में सुधार के लिए सभी स्तरों पर समुदायों और प्रदाताओं को शामिल करना; और सामान्य रूप से किशोर प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार करना. समय समय पर नवाचार हस्तक्षेपों को विकसित किये जाने की आवश्यकता है. सुरक्षित गर्भपात सेवाओ के साथ गर्भनिरोधक विकल्पों और साधनो को और मजबूत कर महिला स्वास्थ्य को बढ़ावा दिया जाना चाहिए.

    विभिन्न राज्य, मंडल एवं जनपद स्तर के विभिन्न हितग्राहियों एवं अन्तर्विभागीय समन्वय को मजबूत करने की आवश्यकता है, जिससे सुरक्षित गर्भपात की सेवाओं को हर स्तर पर मजबूत किया जा सके एवं महिला के लिए सेवाओं की पहुंच, सेवाओं की उपलब्धता एवं गुणवत्ता और सही जानकारी पहुंच सके. देवेंद्र त्रिपाठी उत्तर प्रदेश में आईपास डेवलपमेंट फाउंडेशन के राज्य निदेशक हैं. आईपास डेवलपमेंट फाउंडेशन एक भारतीय एनजीओ है जो सुरक्षित गर्भपात सेवाओं सहित यौन और प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच बढ़ाने के लिए काम करता है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर