DGCA का नया आदेश, उड़ान भरने से पहले पायलट और क्रू मेंबर्स को कराना होगा ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट

DGCA का नया आदेश, उड़ान भरने से पहले पायलट और क्रू मेंबर्स को कराना होगा ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट
देना होगा अंडरटेकिंग, नियमों का उल्लंघन करने पर लाइसेंस होगा रद्द

Pre-Flight Breath Analyser Tests for pilots: सभी एविएशन कर्मचारी ड्यूटी रिपोर्टिंग से पहले अंडरटेकिंग देंगे कि ड्यूटी रिपोर्टिंग से 12 घंटे पहले उन्‍होंने अल्कोहल का सेवन नहीं किया है. इस नियम का उल्लंघन करने पर दोषी का लाइसेंस या मंजूरी को 3 साल के लिए रद्द कर दिया जायेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2020, 8:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. हवाई यात्रियों की सेफ्टी और सिक्योरिटी की प्राथमिकता का ध्यान रखते हुए डीजीसीए (DGCA) ने नए आदेश दिए हैं. डीजीसीए द्वारा जारी नए आदेश के मुताबिक घरेलू या अंतराष्ट्रीय विमान उड़ान सेवा से पहले पायलटों और क्रू मेंबर्स (Pilots and Crew Members) को ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट देना होगा. घरेलू विमानों का उड़ान से पहले प्रति दिन रेंडमली 10 फीसदी फ्लाइट क्रू मेंबर्स और केबिन क्रू मेंबर्स को यह टेस्ट देना होगा. वहीं, अंतराष्ट्रीय विमानों का उड़ान भरने से पहले रोजाना सभी फ्लाइट क्रू मेंबर्स और केबिन क्रू मेंबर्स को यह टेस्ट देना होगा. कोविड-19 (COVID-19) के हालात के मद्देनजर डीजीसीए ने यह व्यवस्था की है. फ्लाइट का परिचालन सामान्य होते ही इस व्यवस्था की समीक्षा की जाएगी.

देना होगा अंडरटेकिंग, नियमों का उल्लंघन करने पर लाइसेंस होगा रद्द
29 मार्च 2020 का वह प्रावधान भी जारी रहेगा जिसमें उल्लिखित है कि सभी एविएशन कर्मचारी ड्यूटी रिपोर्टिंग से पहले अंडरटेकिंग देंगे कि ड्यूटी रिपोर्टिंग से 12 घंटे पहले उन्‍होंने अल्कोहल का सेवन नहीं किया है. इस नियम का उल्लंघन करने पर दोषी का लाइसेंस या मंजूरी को 3 साल के लिए रद्द कर दिया जायेगा. क्रू मेंबर्स को मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव की उपस्थिति में ये अंडरटेकिंग देना होगा.

ये भी पढ़ें: 'एक जिला, एक उत्‍पाद' योजना पर राज्‍यों के साथ काम कर रहा केंद्र! जुड़ेगा 20 खरब रुपये का उत्‍पादन
ये भी पढ़ें: केंद्र का कांग्रेस को स्पष्टीकरण, कहा- सरकारी पदों पर जारी रहेगी भर्ती, नहीं लगाई कोई रोक



अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाएं 30 सितम्बर तक निलंबित
नागरिक विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने सोमवार को कहा कि सभी निर्धारित अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानें 30 सितम्बर तक निलंबित रहेंगी. डीजीसीए ने एक परिपत्र में कहा, 'हालांकि, सक्षम प्राधिकारियों द्वारा कुछ चुनिंदा मार्गों पर मामलों के आधार पर अंतरराष्ट्रीय निर्धारित उड़ानों को अनुमति दी जा सकती है.' कोरोना वायरस के मद्देनजर भारत में 23 मार्च से निर्धारित अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानें निलंबित हैं.

इस बीच, मई से वंदे भारत मिशन और जुलाई से अन्य देशों के साथ द्विपक्षीय ‘एयर बबल’ व्यवस्था के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें चलाई गईं. परिपत्र में कहा गया कि निलंबन से अंतरराष्ट्रीय ‘ऑल-कार्गो’ संचालन और डीजीसीए द्वारा अधिकृत विशेष विमानों का संचालन प्रभावित नहीं होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज