लाइव टीवी

खेमेबाजी में अटका धमतरी जिला कांग्रेस का चुनाव, निकाय चुनाव में हो सकता है नुकसान

Abhishek Pandey | News18 Chhattisgarh
Updated: November 21, 2019, 3:51 PM IST
खेमेबाजी में अटका धमतरी जिला कांग्रेस का चुनाव, निकाय चुनाव में हो सकता है नुकसान
धमतरी कांग्रेस के दोनों खेमों ने संगठन और सरकार में अपने अपने आकाओं के जरिये भरपूर दबाव बना रखा है. (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धमतरी जिला कांग्रेस अध्यक्ष (Dhamtari District Congress President) का चुनाव (Election) एक बार फिर पार्टी की गुटीय खींचतान में फंस कर रह गया है.

  • Share this:
धमतरी. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धमतरी जिला कांग्रेस अध्यक्ष (Dhamtari District Congress President) का चुनाव (Election) एक बार फिर पार्टी की गुटीय खींचतान में फंस कर रह गया है. एक तरफ जहा बीजेपी (BJP) ने आगामी निकाय चुनाव (Election) से पहले तय समय पर सांगठनिक फेरबदल पूरा कर लिया है. वहीं कांग्रेस (Congress) अंदरूनी लड़ाई में उलझी पड़ी है. जिले के मौजूदा अध्यक्ष मोहन लालवानी (Mohan Lalwani) बीते करीब 5 साल से अध्यक्ष के पद पर हैं और एक विशेष गुट के माने जाते हैं. ये गुट अपनी पसंद का चेहरा जिला अध्यक्ष के पद पर देखना चाहता है. वहीं पूर्व विधायक गुरूमुख सिंह होरा का खेमा भी पूरा जोर लगाए हुए है कि अध्यक्ष उनका अपना कोई बने.

धमतरी कांग्रेस (Dhamtari Congress) के दोनों खेमों ने संगठन और सरकार में अपने अपने आकाओं के जरिये भरपूर दबाव बना रखा है. दो तरफा दबाव के चलते आला कमान किसी एक राह पर नहीं बढ़ पा रहा है. इसका सीधा असर आगामी चुनाव की जमीनी तैयारी पर सीधा दिख रहा है. क्योंकि जमीनी कार्यकर्ता उलझन में हैं कि वर्तमान अध्यक्ष का नेतृत्व कायम रहेगा या नए नेता के साथ नई नीति पर काम करना पड़ेगा.

कांग्रेस को नुकसान
शहर के राजनीतिक जानकार जुनैद रिजवी इस स्थिति को कांग्रेस के लिए सीधे नुकसान से जोड़ कर देखते हैं. उनका कहना है कि यदि हालात में सुधार नहीं हुए तो आगामी निकाय चुनाव में कांग्रेस को बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है. इसको लेकर पार्टी के आला नेताओं को समय रहते उचित निर्णय ले लेना चाहिए. हालांकि पार्टी के प्रमुख नेता सीधे कुछ नहीं कह रहे हैं. कांग्रेस के धमतरी जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी का कहना है कि अध्यक्ष चुनाव आला कमान का अधिकार क्षेत्र है. इस मामले में वे ही निर्णय लेंगे.

ये भी पढ़ें: लव मैरिज पर सामाज ने लगाया 30 हजार रुपये जुर्माना, पैसे नहीं देने पर की ये शर्मनाक हरकत  

ये हैं छत्तीसगढ़ की 'पैड वूमेन', पर्यावरण के लिए खतरा बने धान की पराली से बनाया सेनेटरी नैपकिन 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 3:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...