• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Dhanbad Judge Death केस में SC की तल्ख टिप्पणी, कहा- जज शिकायत भी करते हैं तो पुलिस या CBI एक्शन नहीं लेती

Dhanbad Judge Death केस में SC की तल्ख टिप्पणी, कहा- जज शिकायत भी करते हैं तो पुलिस या CBI एक्शन नहीं लेती

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई के सुस्‍त रवैये पर तीखी प्रतिक्रिया दी है.

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई के सुस्‍त रवैये पर तीखी प्रतिक्रिया दी है.

Dhanbad Judge Death: धनबाद के जज उत्तम आनंद की मौत मामले पर CJI ने कहा कि जजों की कॉलोनी में कोई सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? एक नौजवान ऑफिसर की मौत हो गई. इसके लिए सरकार जिम्मेदार है.

  • Share this:

रांची. जजों की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने स्वत: संज्ञान लिया था. शुक्रवार को इस सिलसिले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. पिछले हफ्ते झारखंड के धनबाद में पदस्‍थ एक जज की संदिग्ध मौत के बाद चीफ जस्टिस एनवी रमना (Chief Justice NV Ramana) ने पूरे देश के जजों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई थी और केंद्र सरकार को सुनवाई के दौरान हाजिर होने को कहा था. सुप्रीम कोर्ट ने सीधे कहा कि जज की मौत के लिए राज्‍य सरकार जिम्‍मेदार है.

सुनवाई में केंद्र सरकार की तरफ से अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल पेश हुए. जस्टिस रमना ने जजों की सुरक्षा और उनकी लाचारी को लेकर कड़ी नाराजगी जताई. जस्टिस रमना ने कहा कि भारत ऐसा देश है, जहां जजों को पता नहीं कि अगर उन्हें कोई दिक्कत है तो किससे शिकायत करें? पुलिस, सीबीआई और आईबी न्यायपालिका की कोई मदद नहीं करती. फिर जजों को मुख्य न्यायाधीश के पास शिकायत भेजनी पड़ती है.

अटॉर्नी जनरल के आपत्ति जताने पर मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि मुझे हालात बेहतर पता है और मैं जो कह रहा हूं, वो पूरी जिम्मेदारी से कह रहा हूं. जस्टिस रमना ने कहा कि पूरे देश से जज शिकायत करते हैं कि उनको धमकाने की कोशिश की जाती है. कभी फोन पर गंदे मैसेज भेजे जाते हैं तो कभी फेसबुक तक पर लोग धमकी भरा मैसेज पोस्‍ट कर देते हैं. यह हाल निचली अदालत और हाईकोर्ट दोनों जगहों पर हैं. पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती.

धनबाद के जज उत्तम आनंद मौत मामले पर जस्टिस रमना ने कहा कि जजों की कॉलोनी में कोई सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? एक नौजवान ऑफिसर की मौत हो गई. इसके लिए सरकार जिम्मेदार है. धनबाद में कोयला माफिया सक्रिय हैं, ऐसे में जजों को सुरक्षा कौन देगा? झारखंड सरकार के वकील राजीव रंजन ने कहा कि जजों की कॉलोनी में चारों तरफ से बाउंड्री करा दी गई है, लेकिन जस्टिस रमना ने कहा कि गैंगस्टर के लिए बाउंड्री वॉल कोई मायने नहीं रखता. उससे आगे जाकर सुरक्षा देनी होगी.

झारखंड सरकार की ओर से पेश अधिवक्‍ता ने फिर बताया कि जजों को सुरक्षा भी दी जा रही है. धनबाद के मामले की जांच को सीबीआई को दे दिया गया है. दो आरोपी पकड़े भी गए हैं. चीफ जस्टिस ने फिर सभी राज्य सरकारों को नोटिस जारी कर जजों की सुरक्षा की स्थिति की जानकारी मांगी है. अगली सुनवाई सोमवार को होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज