Home /News /nation /

'पलट जाऊं' वाले बयान पर BJP का जयंत चौधरी पर तंज, प्रधान ने बताया कम ज्ञान वाला बच्‍चा

'पलट जाऊं' वाले बयान पर BJP का जयंत चौधरी पर तंज, प्रधान ने बताया कम ज्ञान वाला बच्‍चा

धर्मेंद्र प्रधान ने कसा तंज. (File pic)

धर्मेंद्र प्रधान ने कसा तंज. (File pic)

UP Elections 2022: आगरा में रविवार को विश्वविद्यालय के खंदारी परिसर स्थित जेपी सभागार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय मंत्री और उत्तर प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने जयंत चौधरी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि उनकी याददश्त कमजोर है, बच्चे हैं, इसलिये माफ कर देना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. पांच राज्‍यों में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections 2022) अब नजदीक हैं. इनमें सबसे अहम राज्‍य उत्‍तर प्रदेश (UP Assembly Elections 2022) माना जा रहा है. यूपी में सात चरणों में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) होने हैं. इनकी शुरुआत 10 फरवरी से होगी. इस बीच नेताओं के बीच बयानबाजी जारी है. पिछले दिनों राष्‍ट्रीय लोक दल (RLD) के अध्‍यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) ने बीजेपी के लिए कहा था कि ‘मैं कोई चवन्‍नी नहीं जो पलट जाऊं.’ अब उनके इस बयान पर बीजेपी के उत्‍तर प्रदेश चुनाव प्रभारी और वरिष्‍ठ नेता धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने तंज कसा है. उन्‍होंने रविवार को कहा है, ‘रालोद अध्‍यक्ष इतिहास का ज्ञान कम रखने वाले बच्‍चे हैं.’

बीजेपी नेता धर्मेंद्र प्रधान ने जयंत चौधरी के लिए यह भी कहा है कि उनके पिता स्‍वर्गीय अजित सिंह ने कितनी बार पाला बदला है, वह यह बात शायद भूल गए हैं. आगरा में रविवार को विश्वविद्यालय के खंदारी परिसर स्थित जेपी सभागार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय मंत्री और उत्तर प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने जयंत चौधरी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि उनकी याददश्त कमजोर है, बच्चे हैं, इसलिये माफ कर देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि गत तीन चुनावों वर्ग विशेष की बात करने वालों को जनता नकार चुकी है. इस बार भी ऐसा ही होगा. उन्होंने कहा कि बीजेपी सर्व समाज की बात करती है, हर वर्ग का विकास करने में जुटी है.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से पहले बीजेपी ने पिछले दिनों रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी को साथ आने का न्योता दिया था. हालांकि चौधरी ने लगे हाथ इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था और साथ ही केंद्र व राज्य की सत्ताधरी पार्टी को विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ साल भर से अधिक समय तक चले आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों की याद दिलाई थी.

जयंत चौधरी ने ट्वीट किया था, ‘न्योता मुझे नहीं, उन +700 किसान परिवारों को दो जिनके घर आपने उजाड़ दिए!!.’ बता दें कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाट समुदाय की भूमिका हमेशा अहम होती है और वह परिणामों को प्रभावित करने की ताकत रखता है. इस क्षेत्र में रालोद का खासा प्रभाव है. जयंत के दादा चौधरी चरण सिंह देश के प्रधानमंत्री रह चुके हैं जबकि उनके पिता दिवंगत अजीत सिंह भी केंद्र सरकार में मंत्री रहे हैं. इस बार के चुनाव में रालोद ने सपा से गठबंधन किया है.

Tags: Assembly elections, BJP, Dharmendra Pradhan, Jayant Chaudhary, Rld, UP Assembly Election 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर