इस क्षेत्र में मोदी सरकार करने वाली है $100 अरब का निवेश, बनेंगे रोजगार के मौके

तेल एवं गैस क्षेत्र के प्रोफेशनल्स की बड़ी भूमिका
तेल एवं गैस क्षेत्र के प्रोफेशनल्स की बड़ी भूमिका

सोमवार को केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि युवाओं को तेल एवं गैस क्षेत्र में करियर की संभावनाओं को तलाशना चाहिए. क्योंकि भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में तेल एवं गैस क्षेत्र के प्रोफेशनल्स की बड़ी भूमिका होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2019, 1:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: सोमवार को केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस (Minister of Petroleum and Natural Gas) तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने कहा कि युवाओं को तेल एवं गैस क्षेत्र में करियर की संभावनाओं को तलाशना चाहिए. क्योंकि भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में तेल एवं गैस क्षेत्र के प्रोफेशनल्स की बड़ी भूमिका होगी. बता दें कि प्रधान यहां फेडरेशन ऑफ इंडियन पेट्रोलियम इंडस्ट्री के वार्षिक सम्मेलन और पुरस्कार वितरण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे. इस मौके पर तेल एवं गैस क्षेत्र से जुड़ी सार्वजनिक और निजी कंपनियों के सीईओ और विशेषज्ञ मौजूद थे.

फेडरेशन ऑफ इंडियन पेट्रोलियम इंडस्ट्रीज (एफआईपीआई) के 30 साल पूरे होने की बधाई दी. साथ ही उन्होंने कहा कि तेल और गैस क्षेत्र में नवाचार को बढ़ावा देने के लिए एफईपीआई की पहल सराहनीय है. भारत का ऊर्जा क्षेत्र जिस तरह व्यापक हो रहा है, उससे देश में तेल और गैस क्षेत्र की तकनीकी समझ रखने वाले युवा पेशेवरों की मांग तेजी से बढ़ने वाली है.

Xiaomi ने लॉन्च किया Mi Credit, मिलेगा 2 लाख रुपये का तक का लोन



उन्होंने कहा कि देश में जिस तरह शहरीकरण बढ़ रहा है, उसको देखते हुए अब ग्रामीण इलाकों में लोगों के लिए बुनियादी जरूरत और स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यटन और रोजगार के वह सभी अवसर उपलब्ध कराने होंगे, जिससे पूरे देश का विकास हो सके.
अधिक तकनीक और निवेश आकर्षित करना
मिनिस्टर ने कहा कि हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय अर्थव्यवस्था को 5,000 अरब डॉलर के स्तर तक ले जाने की दिशा में बढ़ रहे हैं. प्रधान ने कहा कि पिछले पांच साल में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बनी नीतियों का मकसद अधिक से अधिक तकनीक और निवेश आकर्षित करना रहा है.

ऊर्जा क्षेत्र में विशेष रूप से तेल और गैस क्षेत्र पर उन्होंने बताया कि अगले चार साल में भारत की रिफाइनरी, पाइपलाइनों और गैस टर्मिनल में 100 अरब डॉलर से अधिक का निवेश होगा. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां युवा प्रोफेशनल्स के लिए करियर के कितने अवसर उपलब्ध होंगे.

किसानों के लिए बड़े काम की है ये खबर, जानिए वरना खेती का हो जाएगा बंटाधार!

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज