अपना शहर चुनें

States

INTERVIEW: प्रधान बोले- हमारा बजट वोट नहीं देश के लिए है

बजट पेश होने के एक दिन बाद पेट्रोलियम मंत्री ओडिशा पहुंचे और बजट के फायदे गिनाए. इस दौरान वो नवीन पटनायक की सरकार पर निशाना साधने से भी नहीं चूके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2018, 12:21 PM IST
  • Share this:
वित्त वर्ष 2018-19 के लिए आम बजट आ चुका है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में गुरुवार को बजट पेश किया. बजट आने के बाद सत्ता और विपक्ष से जुड़े लोगों ने बजट पर अपनी-अपनी बात रखी. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने न्‍यूज 18 इंडिया से बातचीत में बजट के फायदे गिनाए. साथ ही उन्होंने नवीन पटनायक की सरकार पर भी जमकर निशाना साधा. प्रधान ने ओडिशा के कटक में रोड शो किया और सभा को भी संबोधित किया. इसी दौरान न्यूज 18 इंडिया ने उनसे बातचीत की-

बजट लोक-लुभावन नहीं था. इससे क्या फायदा होगा?
राज्यों में बजट का सबसे ज्यादा फायदा ओडिशा को मिलेगा. स्वास्थ्य बीमा में सबसे ज्यादा फायदा यहीं होगा. इससे 3.5 करोड़ परिवारों को फायदा मिलेगा.

लेकिन नवीन बाबू (नवीन पटनायक) को बजट पसंद नहीं आया.
हमें नवीन बाबू के विफल शासन से आलोचना नहीं सुननी है.



पिछले दिनों एक दलित नाबालिग का रेप और सुसाइड हुआ. लेकिन अब तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई.
ओडिशा में दलित नाबालिग के रेप से साफ है कि ओडिशा की सरकार असंवेदनशील है.

क्या ओडिशा में बीजेपी चुनौती बन पाएगी?
आज देश में मोदी के ऊपर जो आस्था है, भरोसा है. वो ओडिशा में नंबर 1 है और साथ ही यहां की सरकार की विफलता है.

बीजेपी पंचायत चुनाव में आगे रही, क्या ये सफलता एसेंबली में मिलेगी?
मुझे भरोसा है कि जनता का मन बदल चुका है. यहां ग्रामीण क्षेत्रों में लोग परिवर्तन का मन बना चुके हैं. नवीन सरकार सिर्फ संवैधानिक कार्यकाल पूरा कर रही है.

मिशन 2019 है फिर भी लोक-लुभावन बजट क्यों नहीं?
हम वोट के लिए बजट नहीं बनाते. हम देश के लिए बजट बनाते हैं. किसान और मिडिल क्लास के लिए बजट है.

बजट में उज्ज्वला के लिए आपके मंत्रालय को नए टार्गेट दे दिए गए हैं?
मैं प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री का शुक्रिया करता हूं कि उन्होंने उज्ज्वला पर भरोसा जताया. आज टार्गेट 8 करोड़ किया. हमने 3.30 करोड़ कर दिया. 2019 तक टार्गेट पूरा करेंगे.

पेट्रोलियम मंत्रालय पर बहुत जिम्मेदारी है अब.
प्रधानमंत्री की लीडरशिप में इस इकोनॉमिक मिनिस्ट्री को जन-कल्याण मिनिस्ट्री बना दिया.

विपक्ष बजट पर सवाल उठा रही है. मिडिल क्लास को बहुत उम्मीद थी कि टैक्स में रियायत मिलेगी.
हमने सैलरी क्लास को 40000 की छूट दी है. बजट का फायदा होगा.

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान


बजट और सरकार के स्कीम के प्रसार की क्या योजनाएं हैं? अब बहुत कम समय बचा है.
सभी मंत्री और कार्यकर्ता प्रचार-प्रसार में जुट गए हैं. हम इन तमाम स्कीम्स को जन-समर्थन में बदल देंगे.

भारतीय मजदूर संघ ने बजट को मजदूर विरोधी बताया है.
ये मजदूर विरोधी बजट नहीं है. मजदूरों का फायदा होगा.

चंद्रबाबू नायडू बजट से खुश नहीं हैं.
बजट देश के लिए बनता है, राज्यों के लिए नहीं.

क्या आप जनता को मना पाएंगे.
हमें जनसमर्थन इस बात का सबूत है कि मोदी जी की पॉलिसी पर जनता को यकीन है.

अब धर्मेंद्र प्रधान की राजनीति दिल्ली की ओर जाएगी या फिर ओडिशा की ओर
मैं तो पार्टी का कार्यकर्ता हूं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नया आइडिया, पूरे देश के बच्चों को देंगे ये अनोखा गिफ्ट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज