Assembly Banner 2021

गुजरात: अहमदाबाद जा रहे सेना के ध्रुव हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग

‘‘हेलीकॉप्टर में हाइड्रॉलिक ऑयल लीकेज के कारण इसे खेडा जिले में नाडियाड एवं महुधा के बीच वीना गांव में खेतों में आपात स्थिति में उतारना पड़ा.’’ANI

‘‘हेलीकॉप्टर में हाइड्रॉलिक ऑयल लीकेज के कारण इसे खेडा जिले में नाडियाड एवं महुधा के बीच वीना गांव में खेतों में आपात स्थिति में उतारना पड़ा.’’ANI

Dhruv helicopter: गुजरात में अहमदाबाद से 30 किलोमीटर की दूरी पर भारतीय सेना के ALH ध्रुव हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग हुई.

  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात के खेडा जिले के वीना गांव में सेना का एक हेलीकॉप्टर तकनीकी खराबी के कारण शनिवार की शाम को आपात स्थिति में उतरा. जिसमें एक लेफ्टिनेंट जनरल सहित तीन अधिकारी सवार थे. पुलिस ने बताया कि घटना में कोई भी घायल नहीं हुआ है. एक अधिकारी ने बताया कि तीन दिवसीय संयुक्त कमांडर सम्मेलन समाप्त होने के बाद हेलीकॉप्टर तीन अधिकारियों को नर्मदा जिले के केवड़िया से लेकर अहमदाबाद जा रहा था, जिसमें सेना के एक लेफ्टिनेंट जनरल, एक एओसी अधिकारी और एक कर्नल भी सवार थे. इसके अलावा इसमें दो पायलट और एक टेक्नीशियन भी थे.

ANI के मुताबिक गुजरात में अहमदाबाद से 30 किलोमीटर की दूरी पर भारतीय सेना के ALH ध्रुव हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग हुई. इसमें आर्मी ट्रेनिंग कमांड के हेड लेफ्टिनेंट जनरल राज शुक्ला, एयर फोर्स के दक्षिणी वेस्टर्न एयर कमांड के चीफ एयर मार्शल एसके घोटिया उड़ान भर रहे थे. दोनों ऑफिर्स गुजरात के केवड़िया में आयोजित कंबाइंड कमांडर्स कॉन्फ्रेंस से लौट रहे थे कि अचानक हेलिकॉप्टर को सतर्कतावश इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी.

हाइड्रॉलिक ऑयल लीकेज के कारण हेलीकॉप्टर को उतारना पड़ा
खेडा के पुलिस अधीक्षक दिव्य मिश्रा ने बताया, 'हेलीकॉप्टर में हाइड्रॉलिक ऑयल लीकेज के कारण इसे खेडा जिले में नाडियाड एवं महुधा के बीच वीना गांव में खेतों में आपात स्थिति में उतारना पड़ा.' मिश्रा ने बताया कि हेलीकॉप्टर सड़क के पास खुले खेत में उतरा, लेकिन इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ है.
बता दें कि केवड़िया में आयोजित तीन दिवसीय कंबाइंड कमांडर्स कॉन्फ्रेंस के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया. उन्होंने कहा कि उत्तरी सीमा पर कोरोना महामारी और मुश्किल चुनौतियों के बीच सेना ने जबरदस्त दृढ़ता का प्रदर्शन किया है.



अपने संबोधन में पीएम मोदी ने भारतीय सेना से समग्र दृष्टिकोण अपनाने, सिविल-मिलिट्री अड़चनों को तोड़ने और निर्णय लेने की प्रक्रिया को तेज करने पर ध्यान केंद्रित करने का आह्वान किया. उन्होंने तीनों सेनाओं को सलाह दी कि वे विरासत प्रणाली और प्रथाओं से खुद को छुटकारा दिलाएं, जिन्होंने उनकी उपयोगिता और प्रासंगिकता को रेखांकित किया है.

सैन्यकर्मियों को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री ने सेना द्वारा विकसित किए गए नवोन्मेष उपकरणों का जायजा लिया. इस उपकरणों में केवड़िया में एक प्रदर्शनी में दर्शाया गया था. इससे पहले गुजरात पहुंचने पर अहमदाबाद में राज्यपाल आचार्य देवव्रत, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने प्रधानमंत्री की अगवानी की.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज