होम /न्यूज /राष्ट्र /खास समुदाय से 'प्रेम', ऊंची जाति...? इन वजहों से दिग्विजय के लिए भारी पड़ी कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी

खास समुदाय से 'प्रेम', ऊंची जाति...? इन वजहों से दिग्विजय के लिए भारी पड़ी कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ऐलान करते हुए कहा कि वे पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे.

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ऐलान करते हुए कहा कि वे पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे.

Congress President Election: दरअसल कांग्रेस में यह आम धारणा है कि दलित और पिछड़ा वर्ग उसका मूल वोट बैंक है और उसे वापस ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

कांग्रेस के कुछ नेताओं ने सोनिया गांधी तक यह बात पहुंचाई कि दिग्विजय सिंह की छवि प्रो मुस्लिम है.
कांग्रेस पार्टी ने वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को अपना आधिकारिक उम्मीदवार घोषित कर दिया है.
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ऐलान करते हुए कहा कि वे पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे.

नई दिल्ली. दिग्विजय सिंह का एक खास समुदाय के लिए प्रेम उनकी कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी पर भारी पड़ गया. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक दिग्विजय सिंह के चुनाव लड़ने को लेकर जैसे ही मसला फाइनल स्टेज की ओर बढ़ने लगा तब पार्टी के कुछ नेताओं ने सोनिया गांधी तक यह बात पहुंचाई कि दिग्विजय सिंह की छवि एक खास समुदाय का समर्थन करने से जुड़ी है. बीजेपी इसका इस्तेमाल उनके हिंदू विरोधी होने का आरोप लगाकर कर चुनाव में कर सकती है.

बताया जाता है कि दिग्विजय सिंह के ऐसे कई बयानों का हवाला दिया गया और कहा गया कि जिस तरह से इस वक्त देश में ध्रुवीकरण की सियासत चल रही है और कांग्रेस जिस ध्रुवीकरण से लड़ने की कोशिश कर रही है, उसमें कांग्रेस पर ही दिग्विजय सिंह के बनने पर तुष्टिकरण के आरोप लग सकते हैं. दिग्विजय सिंह की दावेदारी में दूसरी बाधा उनका ऊंची जाति से होना भी माना जा रहा है.

दरअसल कांग्रेस में यह आम धारणा है कि दलित और पिछड़ा वर्ग उसका मूल वोट बैंक है और उसे वापस हासिल करने की कोशिश करनी चाहिए जबकि दिग्विजय सिंह राजपूत समुदाय से आते हैं. कांग्रेस राजपूत समुदाय को अपने बजाय बीजेपी का वोट बैंक मानती है. ऐसे में यह तर्क दिया गया कि दिग्विजय सिंह को बनाने से कांग्रेस को राजनीतिक रूप से कोई बड़ा फायदा नहीं होगा. जबकि खडगे से दलितों के बीच पार्टी की पकड़ बनाने से मजबूती मिलेगी.

बता दें, कांग्रेस पार्टी ने वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को अपना आधिकारिक उम्मीदवार घोषित कर दिया है. पार्टी ने दिग्विजय सिंह से अपना नामांकन नहीं करने को कहा है. ऐसे में अगर कुछ अप्रत्याशित नहीं होता है तो मल्लिकार्जुल खड़गे का कांग्रेस अध्यक्ष बनना लगभग तय है. वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ऐलान करते हुए कहा कि वे पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे. और वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के प्रस्तावक बनेंगे. वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जी-23 गुट के नेताओं ने भी खड़गे का समर्थन करने का फैसला किया है.

Tags: Congress President, Congress President Election, Digvijay singh

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें