• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • ममता बनर्जी हाथ जोड़कर फंड की भीख मांगने के लिए पीएम मोदी से मिलना चाहती हैं : दिलीप घोष

ममता बनर्जी हाथ जोड़कर फंड की भीख मांगने के लिए पीएम मोदी से मिलना चाहती हैं : दिलीप घोष

दिलीप घोष ने कहा कि ममता बनर्जी सरकार में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हो रहा है.

जब घोष (Dilip Ghosh) से सीएम के राष्ट्रीय दौरे के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि पहले तो केंद्र द्वारा आवंटित किए धन का सरकार ने दुरुपयोग किया है और अब हाथ जोड़कर प्रधानमंत्री से फंड की भीख लेने के लिए मिलना चाहती हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने रविवार को सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के पीएम मोदी (PM Narendra Modi) से मिलने को लेकर बड़ी बात कही. उन्होंने कहा कि सीएम प्रधानमंत्री मोदी से हाथ जोड़कर फंड की भीख मागने के उद्देश्य से मिलना चाहती है. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने केंद्रीय संसाधनों का जमकर दुरुपयोग किया है और अब वह और फंड की भीख के लिए पीएम से मिलने जा रही है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान की टीएमसी ने आलोचना की और कहा कि घोष को संघीय प्रणाली के बारे में जानकारी होनी चाहिए. एक बेहतर संघीय प्रणाली की कार्यव्यवस्था में किसी भी राज्य का सीएम हमेशा ही पीएम से मिल सकता है.

    पीटीआई के मुताबिक घोष ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए टीएम पर आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ दल ने सरकारी खजानें में जमकर हेराफेरी की है और अब इसे पूरी तरह से खाली छोड़ दिया गया है. जब घोष से सीएम के राष्ट्रीय दौरे के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि पहले तो केंद्र द्वारा आवंटित किए धन का सरकार ने दुरुपयोग किया है और अब हाथ जोड़कर प्रधानमंत्री से फंड की भीख लेने के लिए मिलना चाहती हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि अब राज्य पूरी तरह से दिवालिया हो चुका है.



    उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी सरकार में बड़े ही पैमाने पर भ्रष्टाचार हो रहा है जिसके कारण बंगाल को वित्तीय संकट का सामना करना पड़ रहा है. दीदी को अब यह महसूस हो गया है कि पार्टी में गुटबाजी चल रही है और 2024 लोकसभा चुनाव तक वह राज्य को ठीक प्रकार से नहीं चला सकतीं.

    टीएमसी ने बयान की आलोचना की
    वहीं दूसरी तरफ टीएमसी के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल घोष ने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के बयान पर हैरानी जताते हुए कहा कि दिलीप घोष हमेशा ही अज्ञानियों की तरह बात करते हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें संघीय ढाचें के बारे में ठीक प्रकार से समझ नहीं है. उन्हें मालूम होना चाहिए कि एक मुख्यमंत्री कभी भी पीएम से मिल सकता है. कुणाल घोष के बयान का समर्थन करते हुए राज्य में मंत्री और तृणमूल कांग्रेस विधायक चंद्रिमा भट्टाचार्य ने जानना चाहा कि ‘‘क्या मुख्यमंत्री ने अपने दौरे के उद्देश्यों के बारे में भाजपा नेता के कान में जाकर बात की थी?’’

    बता दें कि जुलाई अंतिम सप्ताह में सीएम ममता बनर्जी का दिल्ली का दौरा है. इस बात की जानकारी शुक्रवार को सीएम ने खुद दी थी. फिलहाल अभी तक इस दौरे की तारीख के बारे में किसी भी तरह का ऐलान नहीं किया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज