भाजपा से रूठे एकनाथ खडसे ने थामा राकंपा का हाथ, फडणवीस से कलह बनी पार्टी छोड़ने की वजह

एकनाथ खडसे काफी लंबे समय से बीजेपी से नाराज चल रहे थे. (फाइल)
एकनाथ खडसे काफी लंबे समय से बीजेपी से नाराज चल रहे थे. (फाइल)

महाराष्ट्र राजनीति का बड़ा चेहरा माने जाने वाले एकनाथ खडसे ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से नाखुश होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. हालांकि, उन्होंने बुधवार को ही एनसीपी में शामिल होने की घोषणा कर दी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 5:31 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) को अलविदा कह गए वरिष्ठ नेता एकनाथ खडसे (Eknath Khadse) ने शुक्रवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का हाथ थाम लिया है. इस दौरान राकांपा के मुख्यालय में हुए इस कार्यक्रम में राकांपा प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) मौजूद रहे और प्रदेश राकांपा प्रमुख जयंत पाटिल (Jayant Patil) ने खडसे का स्वागत किया. खास बात है कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडवणीस (Former Chief Minister Devendra Fadnavis) से नाखुश होकर खडसे ने पार्टी छोड़ने का फैसला लिया था.

बीजेपी में लगाए गए आरोप
68 वर्षीय खडसे पर भूमि पर कब्जा करने के आरोप लगे थे, जिसके चलते उन्हें 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री फडणवीस के मंत्रिमंडल से हटा दिया गया. वह पिछले चार साल के दौरान भाजपा में राजनीतिक उपेक्षा का सामना कर रहे थे. हालांकि, उन्होंने महज दो दिन पहले भगवा पार्टी से नाता तोड़ा है.

महाराष्ट्र के पूर्व राजस्व मंत्री एवं विधानसभा में विपक्ष के पूर्व नेता खडसे ने बुधवार को मीडिया से बात करते हुए फडणवीस पर उनका जीवन और राजनीतिक करियर बर्बाद करने की कोशिश करने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि फडणवीस ने पुलिस को मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे. इसके अलावा उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम ने मेरे खिलाफ भ्रष्टाचार (Corruption) के मामले में जांच कराई थी, जिसमें में आरोपी साबित नहीं हुआ. इसके अलावा खडसे फडणवीस के पार्टी चलाने के तरीके से भी खुश नहीं थे.
देरी से शुरू हुआ पार्टी में शामिल होने का कार्यक्रम


राकांपा, राज्य के सत्तारूढ़ गठबंधन में शिवसेना (Shiv Sena) और कांग्रेस के साथ शामिल है. राज्य की यह महा विकास अघाड़ी सरकार 11 महीने पहले सत्ता में आई थी. खडसे के पार्टी में शामिल होने का कार्यक्रम पहले दो बजे किया जाना था, लेकिन पार्टी प्रमुख पवार राज्य में मंत्री जितेंद्र आव्हाड के साथ एक बैठक में शामिल हुए थे. खडसे उत्तर महाराष्ट्र स्थित अपने गृह जिले जलगांव से गुरुवार को यहां पहुंचे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज