अपना शहर चुनें

States

टूलकिट केस: प्रियंका ने कहा, 21 साल की निहत्थी दिशा रवि से डरी सरकार; भाजपा ने याद दिलाई कसाब की उम्र

बेंगलूरु बेस्ड एक्टिविस्ट दिशा रवि.
बेंगलूरु बेस्ड एक्टिविस्ट दिशा रवि.

Disha Ravi Arrest: दिशा रवि बेंगलुरु के एक निजी कॉलेज से बीबीए की डिग्री धारक हैं और वह 'फ्राइडेज़ फॉर फ्यूचर इंडिया' नामक संगठन की संस्थापक सदस्य भी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 15, 2021, 1:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस द्वारा 'टूलकिट' मामले की जांच में 22 वर्षीय जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी की कई नेताओं ने निंदा करते हुए उन्हें तत्काल रिहा करने की मांग की है. दिल्ली की एक अदालत ने 14 फरवरी को दिशा रवि को पांच दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया.

दिशा रवि को तीन कृषि कानूनों से संबंधित किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़े 'टूलकिट' को कथित रूप से संपादित कर उसे सोशल मीडिया पर साझा करने के आरोप में दिल्ली पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ की टीम ने 13 फरवरी को बेंगलुरु के सोलादेवनहल्ली इलाके में उसके घर से गिरफ्तार किया था.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सहित राहुल गांधी, शशि थरूर और अरविंद केजरीवाल सहित किसान संगठनों ने भी दिशा की गिरफ्तारी का विरोध किया है. दूसरी ओर भाजपा के सांसद पीसी मोहन ने दिशा की गिरफ्तारी का विरोध करने वालों पर तंज कसते हुए कहा है कि कानून से ऊपर कोई नहीं है और उम्र महज एक संख्या है.



राहुल गांधी ने कहा, भारत चुप नहीं बैठेगा
दिशा रवि की गिरफ्तारी पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने भी तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की. उन्होंने लिखा, 'बोल कि लब आज़ाद हैं तेरे, बोल कि सच ज़िंदा है अब तक! वो डरे हैं, देश नहीं! भारत चुप नहीं बैठेगा.'

प्रियंका गांधी ने किया दिशा रवि की गिरफ्तारी का विरोध
दिशा रवि की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा, 'डरते हैं बंदूकों वाले एक निहत्थी लड़की से, फैले हैं हिम्मत के उजाले एक निहत्थी लड़की से.'

दिशा रवि की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला: केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस द्वारा ‘टूलकिट’ मामले की जांच में जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए इसे 'लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला' करार दिया. केजरीवाल ने ट्वीट किया, '21 वर्षीय दिशा की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला है. हमारे किसानों का समर्थन करना कोई अपराध नहीं है.'

एसकेएम ने टूलकिट मामले में गिरफ्तार दिशा रवि की तुरंत रिहाई की मांग की
किसानों की यूनियनों के निकाय संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने रविवार को दिल्ली पुलिस द्वारा 'टूलकिट' मामले की जांच में 22 वर्षीय जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा की और उन्हें तत्काल रिहा करने की मांग की. एसकेएम ने साथ ही हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल की तीन कृषि कानूनों का विरोध करने वाले किसानों की मौत को लेकर टिप्पणी की भी निंदा की और चेतावनी दी कि लोग उन्हें इस तरह के 'अहंकार' के लिए एक दिन सबक सिखाएंगे. रवि की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए एसकेएम ने कहा कि वह 'किसानों के समर्थन में खड़ी थीं.' एसकेएम ने बयान में कहा, 'हम उनकी तत्काल बिना शर्त रिहाई की मांग करते हैं.'

दिशा की गिरफ्तारी पर बोले थरूर : एक्टिविस्ट जेल में, टेररिस्ट बेल पर
कांग्रेस नेता शशि थरूर ने किसानों के विरोध प्रदर्शनों से संबंधित 'टूलकिट' को साझा करने में कथित भागीदारी के आरोप में बेंगलुरु की 21 वर्षीय कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. थरूर ने अपमानजनक जम्मू-कश्मीर डीएसपी दविंदर सिंह की एक तस्वीर साझा की, जो जमानत पर बाहर हैं. उन्होंने कहा, 'एक्टिविस्ट जेल में बंद है, जबकि टेररिस्ट (आतंकवादी) जमानत पर है. आश्चर्य है कि हमारे अधिकारी पुलवामा हमले की सालगिरह को कैसे मनाएंगे? आपके पास इस हेडलाइन के पेयर का जवाब है?' साथ ही थरूर ने जलवायु कार्यकर्ता की गिरफ्तारी की खबर साझा की.

दिशा की गिरफ्तारी पर भाजपा सांसद बोले, उम्र सिर्फ एक नंबर है
बेंगलुरु मध्य से भाजपा सांसद पीसी मोहन ने दिशा की गिरफ्तारी के खिलाफ मोर्चा खोलने वालों को कड़ा जवाब दिया. उन्होंने लिखा, 'बुरहान वानी 21 साल का था, अजमल कसाब 21 साल का था. उम्र सिर्फ एक नंबर है. कोई भी कानून से ऊपर नहीं है. कानून अपना काम करेगा. अपराध सिर्फ एक अपराध है.'

दिशा रवि बेंगलुरु के एक निजी कॉलेज से बीबीए की डिग्री धारक हैं और वह 'फ्राइडेज़ फॉर फ्यूचर इंडिया' नामक संगठन की संस्थापक सदस्य भी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज