दीवाली पटाखे : वायु प्रदूषण को लेकर NGT हुआ सख्त, कहा- हम जीवन का जश्न मना सकते है मौत का नहीं

कोलकाता हाईकोर्ट ने पटाखे बेचने और जलाने पर प्रतिबंध लगाया है.

अब एनजीटी (NGT) इस मामले पर स्वंत संज्ञान ले रही है, पटाखा (Firecrackers) बैन करने की याचिका दायर करने वाली याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका वापस ले ली है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना (Corona) के दौरान बढ़ते वायु प्रदूषण (Air Pollution) को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) सख्त है. इसी के चलते एनजीटी 7 से 30 नवंबर तक पटाखों पर बैन को लेकर कमेंट भी कर चुका है. पटाखों पर बैन को लेकर आज एनजीटी में सुनवाई थी. इस दौरान पटाखा कंपनियों की एसोसिएशन ने कहा कि पटाखा (Firecrackers) कंपनियों से 10 हज़ार लोग जुड़े हुए हैं. बैन लगने से यह सब बेरोजगार हो जाएंगे. इस पर एनजीटी ने कहा कि हम जीवन का जश्न मना सकते हैं मौत का नहीं.

पटाखा बैन पर शुक्रवार को राज्य दाखिल करेंगे अपना जवाब
एनजीटी ने कड़ा रुख अपनाते हुए सभी राज्य सरकारों को शुक्रवार शाम 4 बजे तक अपना जवाब दायर करने को कहा है. दरअसल, हर साल की तरह इस साल भी ठंड का मौसम बढ़ते ही दिल्ली की एयर क्वालिटी बेहद खराब हो रही है. इस बार कोरोना संक्रमण को लेकर चुनौती ज्यादा बढ़ गयी है. ओडिशा और राजस्थान की सरकारों ने प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए पहले ही पटाखों पर पाबंदी लगा दी है. अब एनजीटी ने इन्ही दो राज्यों के पटाखों पर बैन के बाद सभी राज्यों से जवाब मांगा है. एनजीटी ने आज इस मामले में सुनवाई करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया है.

यह भी पढ़ें- अलीबाबा को पीछे छोड़ 2021 में Bharat e commerce बन सकता है दुनिया का सबसे बड़ा e commerce पोर्टल

दिल्ली सरकार ने यह रखा अपना पक्ष
दिल्ली सरकार ने एनजीटी से जवाब दायर करने के लिए शुक्रवार तक का वक्त मांगा है। दिल्ली सरकार के वकील ने एनजीटी से कहा है, “आज पॉल्यूशन पर बैठक होने वाली है, इस वजह से वो शुक्रवार तक जवाब दायर करेंगे. आज की बैठक में जो कुछ होगा उसकी जानकारी भी दे पाएंगे.” हर साल ठंड का मौसम आते ही दिल्ली में पॉल्यूशन बढ़ जाता है तो इस बार कोरोना की वजह से चुनौती और ज्यादा बढ़ गयी है. जानकारों का मानना है कि पॉल्यूशन बढ़ने से ठंड में कोरोना संक्रमण और तेजी से होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.