Assembly Banner 2021

DMK का आरोप- ई-वॉलेट के जरिए रिश्वत दे रहे मंत्री, AIADMK ने किया इनकार

DMK ने AIADMK पर लगाया ई वॉलेट के जरिए रिश्वत देने का आरोप (सांकेतिक तस्वीर)

DMK ने AIADMK पर लगाया ई वॉलेट के जरिए रिश्वत देने का आरोप (सांकेतिक तस्वीर)

Tamilnadu Assembly Elections: डीएमके (DMK) के संगठन सचिन आरएस भारथी ने चुनाव आयोग के पास मंत्री और ऑल इंडिया द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (AIADMK) के नेता एसपी वेलुमणि के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि वेलुमणि ने इन आरोपों से इनकार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 6:06 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. विपक्षी पार्टी द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (डीएमके) ने आरोप लगाया है कि तमिलनाडु सरकार (Tamilnadu Government) के एक मंत्री मतदाताओं से उनके मोबाइल नंबर लेकर उन्हें ऑनलाइन पेमेंट ऐप और ई-वॉलेट के जरिए रिश्वत दे रहे हैं. डीएमके (DMK) के संगठन सचिव आरएस भारथी ने चुनाव आयोग के पास मंत्री और ऑल इंडिया द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (AIADMK) के नेता एसपी वेलुमणि के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि वेलुमणि ने इन आरोपों से इनकार किया है.

भारथी के मुताबिक, वेलुमणि ने थोंडामुथुर के वोटर्स के मोबाइल नंबर इकट्ठा किए हैं. इस विधानसभा सीट से वेलुमणि डीएमके के कार्तिकेय सिवसेनापति के खिलाफ मैदान में हैं. जहां 6 अप्रैल को चुनाव होना है. भारथी ने न्यूज18 से कहा कि एआईएडीएमके सिर्फ मतदाताओं को नकद रुपये देने पर अपना ध्यान केंद्रित कर रही है. उनकी योजना मतदाताओं को गूगल पे के जरिए रुपये देने की है. चुनाव आयोग ने इस पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

Youtube Video




ये भी पढ़ें- अप्रैल में चलेंगी दुरंतो, शताब्दी, गरीब रथ जैसी स्पेशल ट्रेनें, जानें टाइमटेबल
RBI से ली जाएगी मदद
राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सत्यब्रतो साहू ने स्वीकार किया है कि उन्हें इसकी शिकायत मिली है. उन्होंने कहा कि उन्हें इस तरह के पेमेंट को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की मदद लेनी होगी. खासकर कि ऐसे जिसमें कि चुनिंदा मोबाइल नंबर से अधिक नंबर्स पर पेमेंट किए गए हों.

बता दें तमिलनाडु में वोट के लिए रुपये देने से जुड़े कई विवाद पहले भी सामने आते रहे हैं. जनवरी 2009 में थिरुमंगलम में हुए उपचुनावों में डीएमके पर लोगों को रिश्वत देने के आरोप लगे थे. ये अपने आप में पहली ऐसी घटना थी जो कि आम लोगों के सामने आई थी.

ये भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीनेशन के लिए सरकार ने जारी की कटऑफ डेट, जानें अपने सवालों के जवाब

वहीं कई राजनेताओं ने नाम न बताने की शर्त पर कहा है कि 2021 के विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को प्रभावित करने में रुपये बड़ी भूमिका अदा कर रहे हैं. हालांकि इस तरह ई-वॉलेट के जरिए मतदाताओं को दिए जा रहे प्रलोभन की जांच करना अधिकारियों के लिए भी बड़ी चुनौती है.

वहीं एआईएडीएमके की प्रवक्ता कोवई सथ्यन ने इस तरह के सभी आरोपों से इनकार किया है और कहा है कि विधानसभा में मतदान में समस्या खड़ी करने के लिए विपक्ष नए नए बहाने कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज