Assembly Banner 2021

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में द्रमुक ने आईयूएमएल और एमएमके को साथ लिया

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में द्रमुक ने आईयूएमएल और एमएमके को साथ लिया. (सांकेतिक चित्र)

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में द्रमुक ने आईयूएमएल और एमएमके को साथ लिया. (सांकेतिक चित्र)

Tamil Nadu Assembly Election: तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में विपक्षी द्रमुक ने दो अन्‍य पार्टियों इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) और मनीथानेया मक्काल काची (एमएमके) के साथ सीटों का बंटवारा मंजूर कर लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 2, 2021, 12:26 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु में छह अप्रैल को होने जा रहे विधानसभा चुनावों (Tamil Nadu Assembly Election) के लिए विपक्षी द्रमुक ने इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) और मनीथानेया मक्काल काची (एमएमके) के साथ सीट बंटवारे को लेकर समझौता किया है. सीट बंटवारा समझौता के तहत पार्टी ने आईयूएमएल को तीन सीटें और एमएमके को दो सीटें दी हैं.

द्रमुक, वाइको के एमडीएमके के साथ भी सीट बंटवारे को लेकर एक समझौते तक पहुंचने के करीब है और टी. तिरूमावलवन नीत वीसीके पार्टी के साथ भी पार्टी की बातचीत चल रही है. बातचीत कल भी जारी रह सकती है. वीसीके के नेता ने कहा कि सीट बंटवारे पर चर्चा के दौरान उनकी पार्टी ने सीटों की संख्या से द्रमुक नेताओं को अवगत करा दिया था.

Youtube Video




ये भी पढ़ें: राजनाथ सिंह ने तमिल को बताया खूबसूरत भाषा, लेकिन इस बात के लिए मांगी माफी
BJP को सत्ता से बाहर रखकर, मुख्यमंत्री को हटाकर भारत को राह दिखाए तमिलनाडु: राहुल गांधी

डीएमके प्रमुख स्‍टालिन ने कहा, भाजपा को कभी भी स्‍वीकार नहीं करेगा तमिलनाडु 

डीएमके (DMK) प्रमुख एमके स्टालिन (MK Stalin) ने कहा है कि तमिलनाडु कभी भी भाजपा को स्वीकार नहीं करेगा. उन्होंने कहा कि बीजेपी तमिलनाडु में हिंदी और संस्कृत को लागू करने का प्रयास करेगी और विकास के नाम पर राज्य से तमिल का सफाया कर देगी. डीएमके प्रमुख ने कहा तमिलनाडु के लोग चाहते हैं कि राज्य धर्मनिरपेक्ष रहे और भाजपा को सत्ता में नहीं आने दिया जाए. स्टालिन ने एक बार फिर जोर देते हुए कहा कि द्रमुक और कांग्रेस निश्चित रूप से एक साथ चुनाव लड़ेंगे.

पूरे तमिलनाडु में 16,000 ग्राम सभाएं आयोजित करेंगे
उन्होंने कहा कि महंगाई और किसानों का मुद्दा आगामी चुनावों में प्रमुख मुद्दे साबित होंगे. हमने पूरे तमिलनाडु में 16,000 ग्राम सभाएं आयोजित करने का फैसला किया है. लोग इस अभियान में काफी उत्साह से भाग ले रहे हैं, विशेष तौर पर महिलाएं. आमतौर पर महिलाएं सार्वजनिक सभाओं से दूर रहती हैं, लेकिन हमारी पार्टी की ओर से हुए ग्राम सभाओं में वे धैर्य से बैठती हैं. सवाल पूछती हैं और मेरे जवाब सुनती हैं. यह बहुत बड़ा बदलाव है. हम डीएमके और कांग्रेस संसदीय चुनावों में एक साथ थे, स्थानीय निकाय चुनावों में एक साथ रहे और अब आगामी विधानसभा चुनाव में भी एक साथ रहेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज