लाइव टीवी

खुशखबरी: ब्रिटेन में नौकरी करने के लिये अब इन लोगों को नहीं देना होगा अंग्रेजी का टेस्ट

भाषा
Updated: September 22, 2019, 8:15 PM IST
खुशखबरी: ब्रिटेन में नौकरी करने के लिये अब इन लोगों को नहीं देना होगा अंग्रेजी का टेस्ट
ब्रिटेन में मेडिकल की नौकरियों के लिए अंग्रेजी की परीक्षा देने की जरूरत नहीं (फाइल फोटो)

ब्रिटेन (Britain) में व्यावसायिक अंग्रेजी परीक्षा (OET) अपनाये जाने के चलते अब वहां काम करने के इच्छुक डॉक्टरों (Doctors), नर्सों, दंत चिकित्सकों (Dentists) और दाइयों को टोफेल (TOEFL) और आईईएलटीएस (IELTS) जैसी अंग्रेजी भाषा से जुड़ी परीक्षाएं देने की जरूरत नहीं होगी.

  • भाषा
  • Last Updated: September 22, 2019, 8:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्रिटेन (Britain) में व्यावसायिक अंग्रेजी परीक्षा (OET) अपनाये जाने के चलते अब वहां काम करने के इच्छुक डॉक्टरों (Doctors), नर्सों, दंत चिकित्सकों (Dentists) और दाइयों को टोफेल (TOEFL) और आईईएलटीएस (IELTS) जैसी अंग्रेजी भाषा से जुड़ी परीक्षाएं देने की जरूरत नहीं होगी.

इस तरह से ब्रिटेन में काम करने के इच्छुक डॉक्टर और नर्स (Nurse) एक बार जिस संस्थान में नौकरी करने जा रहे हैं, उसकी परीक्षा देने के बाद दोबारा अंग्रेजी (English) के लिए ब्रिटेन की ओर से देश में आने से पहले अलग अंग्रेजी की परीक्षा देने से बच जाएंगे. इससे लोगों को बड़ी सुविधा मिलेगी.

क्या है इन परीक्षाओं का मतलब?
ओईटी (The Occupational English Test- OET) एक अंतरराष्ट्रीय अंग्रेजी भाषा की परीक्षा है जिसमें उन स्वास्थ्य पेशेवरों के भाषा संचार कौशल का आकलन किया जाता है, जो अंग्रेजी बोलने वाले वातावरण में पंजीकरण और अभ्यास करना चाहते हैं.

इससे पहले उम्मीदवारों को वीजा आवेदन (Visa Application) के लिये ब्रिटेन के दो स्वास्थ्य सेवा बोर्ड नर्सिंग एवं मिडवाइफरी काउंसिल और जनरल मेडिकल काउंसिल में पंजीकरण के साथ-साथ टोफेल (TOEFL) और आईईएलटीएस (IELTS) जैसी परीक्षाओं के लिए ओईटी (OET) लेना होता था.

अब इन पेशेवरों को नहीं देनी पड़ेंगीं दो परीक्षाएं
ओईटी आयोजित कराने वाले कैम्ब्रिज बॉक्सहिल लैंग्वेज असेसमेंट की सीईओ सुजाता स्टीड ने कहा, "ब्रिटेन के गृह विभाग (Home Department) ने यह सुनिश्चित करते हुए अंग्रेजी भाषा की परीक्षा को सुव्यवस्थित किया है कि वे डॉक्टर, दंत चिकित्सक, नर्स और दाई, जिन्होंने संबंधित पेशेवर निकाय द्वारा पहले ही स्वीकार की गई एक अंग्रेजी भाषा की परीक्षा पास कर ली है, उन्हें टियर-2 वीजा पर ब्रिटेन में प्रवेश से पहले एक और परीक्षा में न बैठना पड़े."
Loading...

1 अक्टूबर से सभी टियर-2 वीजा आवेदनों पर लागू होगा बदलाव
सुजाता ने कहा, "पिछले सप्ताह घोषित किया गया यह परिवर्तन सुनिश्चित करेगा कि देश भर के अस्पताल और चिकित्सा पद्धतियां (Hospital and Medical Methods) उन कर्मचारियों तक पहुंच बना सकेंगी जिनकी उन्हें जरूरत है."

यह बदलाव 1 अक्टूबर से जमा किए गए सभी टियर-2 (सामान्य) वीजा आवेदनों पर लागू होगा.

यह भी पढ़ें: Howdy Modi: शशि थरूर बोले- विदेशों में सम्मान पाने के हकदार हैं PM मोदी 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 22, 2019, 8:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...