Fact Check: क्‍या ऑक्‍सीजन सिलेंडर न मिलने पर नेबुलाइजर से चला सकते हैं काम? जानें सच्चाई

यूरोपीय संघ ने कहा कि वह कोविड-19 से लड़ने में भारत की तेजी से मदद के लिए संसाधन जुटा रहा.

यूरोपीय संघ ने कहा कि वह कोविड-19 से लड़ने में भारत की तेजी से मदद के लिए संसाधन जुटा रहा.

Fact Check: वायरल वीडियो (Video Viral) को देखने के बाद अब सर्वोदय हॉस्पिटल ने ट्वीट कर इसे फर्जी बता दिया है. अस्पताल की ओर से कहा गया कि ये वीडियो किसी भी तरह के वैज्ञानिक अध्ययन (Scientific Study) पर आधारित नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 11:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना (Corona) का कहर लगातार खतरनाक रूप लेता जा रहा है. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ऑक्‍सीजन (Oxygen) के लिए हाहाकार मचा हुआ है. ऑक्‍सीजन न मिलने के कारण काफी लोग दम तोड़ दे रहे हैं. ऐसे समय में सोशल मीडिया (Social Media) पर कई ऐसे वीडियो वायरल (Video Viral) हो रहे हैं, जिसमें कोरोना मरीजों को ऑक्‍सीजन की जगह नेबुलाइजर मशीन के इस्‍तेमाल की सलाह दी जा रही है. सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो को देखने के बाद डॉक्‍टरों से इसे सेहत के लिए खतरनाक बताया है.

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में खुद को सर्वोदय अस्पताल का डॉक्टर आलोक बताने वाला शख्स कोरोना मरीज और उनके परिजनों को ऑक्सीजन की जगह नेबुलाइजर मशीन इस्तेमाल करने की सलाह दे रहा है. इस वीडियो के जरिए ऐसा दावा किया जा रहाहै कि वातावरण में पर्याप्‍त ऑक्‍सीजन है, जिसे नेब्‍यूलाइजर मशीन की मदद से लिया जा सकता है.



ऑक्‍सीन लेवल बढ़ाने को लेकर नेबुलाइजर को लेकर जिस तरह का वीडियो वायरल हो रहा है उसे लेकर अब सर्वोदय हॉस्पिटल ने ट्वीट कर इसे फर्जी बता दिया है. अस्पताल की ओर से कहा गया कि ये वीडियो किसी भी तरह के वैज्ञानिक अध्ययन पर आधारित नहीं है. सर्वोदय हॉस्पिटल की ओर से कहा गया है कि वह इस तरह के किसी भी दावे को पूरी तरह से खारिज करते हैं. हॉस्पिटल की ओर से कहा गया है कि इस तरह का प्रयोग बिना डॉक्‍टर की सलाह पर न करें. ये आपको बीमार कर सकता है.
इसे भी पढ़ें :- राजधानी दिल्‍ली में बढ़ा कोरोना संकट, एक हफ्ते के लिए और बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन

डॉ. आलोक ने सोशल मीडिया पर दी सफाई

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को देखने के बाद जब सर्वोदय हॉस्पिटल की ओर से डॉ. आलोक से जवाब मांगा या तो उन्‍होंने सफाई देते हुए कहा कि उनसे गलत मैसेज चला गया है. ऑक्सीजन सिलेंडर की जगह नेबुलाइजर मशीन का इस्तेमाल करना गलत है. ये सही विकल्प नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज