केरल: लैंडस्लाइड के बीच फरिश्ता बना कुत्ता, मालिक के परिवार की बचा ली जान

केरल के इड्डुकी में मूसलाधार बारिश के बीच एक परिवार के लिए उनका पालतू कुत्ता फरिश्ता बनकर आया, जिसकी वजह से परिवार के सभी सदस्यों की जान बच गई.

News18Hindi
Updated: August 12, 2018, 3:07 PM IST
केरल: लैंडस्लाइड के बीच फरिश्ता बना कुत्ता, मालिक के परिवार की बचा ली जान
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: August 12, 2018, 3:07 PM IST
केरल में बारिश ने भारी तबाही मचा रखी है. लगातार तीन दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश और बाढ़ में अब तक कम से कम 37 लोगों की मौत हो चुकी है. इस दौरान इड्डुकी समेत केरल के 25 जगहों पर लैंडस्लाइड भी हुए हैं. इड्डुकी में मूसलाधार बारिश के बीच एक परिवार के लिए उनका पालतू कुत्ता फरिश्ता बनकर आया, जिसकी वजह से परिवार के सभी सदस्यों की जान बच गई.

केरल में बारिश रुकने से थोड़ी राहत, सीएम ने किया बाढ़ पीड़ितों के मुआवज़े का ऐलान

मोहनन पी. इड्डुकी जिले के कांजीकुझी गांव में अपने परिवार के साथ रहते हैं. वहां गुरुवार सुबह से ही बेहद तेज बारिश हो रही थी. रात में जब मोहनन और उनका परिवार घर के अंदर सो रहा था, तभी बाहर बंधा उनका पालतू कुत्ता तड़के करीब 3 बजे भौंकने और रोने लगा. उसकी आवाज़ से मोहनन की नींद खुल गई, पहले तो उन्होंने इसे नज़रअंदाज किया, लेकिन कुछ देर में कुत्ते ने पहले से और ज्यादा तेज आवाज़ में भौंकना शुरू कर दिया था.

इससे परिवार को किसी गड़बड़ी की आशंका हुई. माज़रा जानने के लिए मोहनन समेत परिवार के सभी सदस्य बाहर आ गए. तभी उन्होंने देखा कि बारिश से मकान का एक हिस्सा टूट रहा है. देखते ही देखते लैंडस्लाइड से उनका घर ढह गया. गनीमत रही कि परिवार के सभी लोग बच गए.

यूपी-केरल समेत 16 राज्यों में भारी बारिश के आसार, अलर्ट जारी

मोहनन ने बताया, 'हमारे घर के बगल में ही एक बुजुर्ग दंपति रहते थे. लैंडस्लाइड की वजह से उनका घर ढह गया, जिसमें दबकर उनकी मौत हो गई. ऐसा हादसा हमारे साथ भी हो सकता था, लेकिन पालतू कुत्ते की वजह से हम सही सलामत हैं.'

बता दें कि केरल में बारिश से हालात खराब हो गए हैं. अब तक 3000 से ज्यादा लोगों को विस्थापित किया गया है. केरल के सीएम पिनराई विजयन ने बाढ़ से मरने वाले लोगों के परिजन को 4 लाख रुपये और बेघर हुए परिवारों को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर