लाइव टीवी

पुणे का डोटू परिवार के पास लौटा, जोमेटो ने अपहरण में हाथ होने से किया इनकार

News18Hindi
Updated: October 11, 2019, 1:51 PM IST
पुणे का डोटू परिवार के पास लौटा, जोमेटो ने अपहरण में हाथ होने से किया इनकार
मालकिन वंदना शाह ने अपने दो महीने के शिकारी कुत्‍ते डोटू के गायब होने के बाद नजदीकी रेस्‍टोरेंट्स के कई फूड डिलिवरी बॉय से पूछताछ की.

अपहरणकर्ता (Abductor) के मल्‍शी (Mulshi) स्थित घर से पिल्‍ला (Puppy) बरामद किया गया. दो दिन पहले हुआ था गायब. पपी की मालकिन ने जोमेटो (Zomato) के डिलिवरी बॉय पर बीगल का अपहरण करने का आरोप लगाते हुए #uninstallzomato अभियान शुरू कर दिया था. जोमेटो ने किडनैपर के अपना कर्मचारी होने से कर दिया था इनकार.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2019, 1:51 PM IST
  • Share this:
पुणे. महाराष्‍ट्र के पुणे (Pune) में एक परिवार ने दो दिन पहले ऑनलाइन फूड डिलिवरी ऐप 'जोमेटो' (Zomato) के डिलिवरी बॉय पर दो महीने के डोटू का अपहरण (Kidnap) करने का आरोप लगाया था. आज डोटू को खोज लिया गया और वह अपने परिवार के पास लौट आया. दो महीने के शिकारी कुत्‍ते (Beagle) डोटू की कर्वे रोड पर रहने वाली मालकिन वंदना शाह ने जोमेटो पर आरोप लगाते हुए टि्वटर पर #uninstallzomato अभियान छेड़ दिया था. इसमें उन्‍होंने डोटू के अपहरण की पूरी कहानी भी बताई. हालांकि, जोमेटो ने स्‍पष्‍ट किया कि अपहरणकर्ता उनका कर्मचारी नहीं है.

डोटू की मालकिन ने नजदीकी रेस्‍टोरेंट्स में की पूछताछ
वंदना शाह ने अपने दो महीने के शिकारी कुत्‍ते डोटू के गायब होने के बाद नजदीकी रेस्‍टोरेंट्स के कई फूड डिलिवरी बॉय से पूछताछ की. इसी दौरान एक डिलिवरी बॉय ने बताया कि यह शिकारी कुत्‍ता उसके एक साथी तुषार के पास है. उसने वंदना शाह को कथित तौर पर डोटू को उठा ले जाने वाले तुषार के घर का पता भी बता दिया. इसके बाद तुषार की डोटू के साथ कुछ तस्‍वीरें भी सामने आ गईं. वंदना ने तुषार से बात कर डोटू को लौटाने के लिए कहा, लेकिन उसने ऐसा करने से साफ मना कर दिया. वंदना शाह ने अलंकार थाने में मामले की एफआईआर भी दर्ज कराई.

आरोपी तुषार ने कबूल की डोटू को उठाने की बात

वंदना ने बताया कि मैंने तुषार से बात की तो उसने डोटू को उठा ले जाने की बात कबूल कर ली. हालांकि, जब मैंने उससे डोटू को लौटाने के लिए कहा तो उसने बहाने बनाने शुरू कर दिएझ उसने कहा कि वह उसे अपने गांव छोड़ आया है. मैंने उसे डोटू को लौटाने के बदले पैसे देने की पेशकश भी की, लेकिन वह हमें भटकाने वाले जवाब ही देता रहा. इसके बाद उसने अपना फोन बंद कर दिया. आखिर में उसने हमें अपने मुल्‍शी के घर का पता दिया और हम डोटू को वापस ले आए.

जोमेटो ने कहा, हमारा कर्मचारी नहीं है अपरणकर्ता
जोमेटो ने डोटू के अपहरण में अपने किसी भी कर्मचारी का हाथ होने से इनकार कर दिया. जोमेटो के प्रवक्‍ता ने कहा कि हम डोटू के गायब होने पर घर वालों की परेशानी को समझ सकते हैं. हमें उनसे सहानुभूति है. हमने अपने डाटाबेस, डिलिवरी पार्टनर नेटवर्क के अलावा पुलिस के साथ मिलकर भी पड़ताल की. इसके बाद हमने स्‍पष्‍ट कर दिया कि डोटू का अपहरण करने वाला हमारा कर्मचारी नहीं है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

तुर्की के सीरिया पर हमले के बाद हजारों ने छोड़ा घर, 100 से ज्‍यादा आतंकी ढेर!

राफेल पूजा विवाद पर राजनाथ सिंह का पाकिस्तान ने किया सपोर्ट, कही ये बात

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 1:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...