कोरोना को मात देकर डोनाल्‍ड ट्रंप रैलियां करने के लिए तैयार, लेकिन स्वास्थ्य को लेकर अब भी हैं कई सवाल

कोरोना से ठीक होने के बाद ट्रंप शनिवार से नॉर्मल लाइफ में लौट आए हैं. (AP)
कोरोना से ठीक होने के बाद ट्रंप शनिवार से नॉर्मल लाइफ में लौट आए हैं. (AP)

Donald Trump Covid-19 diagnosis: डोनाल्ड ट्रंप ने 2 अक्टूबर को घोषणा की थी कि वो कोरोना पॉजिटिव हैं. कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद ट्रंप को 3 रातें अस्पताल में गुजरानी पड़ी थी. अस्पताल से लौटने के बाद ट्रंप ने कहा, जब आप इस पर मजबूत पकड़ बना लेते हैं तो स्वस्थ हो जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 5:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को व्हाइट हाउस के डॉक्टरों ने शनिवार से सार्वजनिक रैलियों में भाग लेने की इजाजत दे दी है. इसके साथ ही ट्रंप के शीर्ष प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बढ़ गया है. हालांकि डोनाल्ड ट्रंप के स्वास्थ्य के बारे में सवाल बने हुए हैं. ट्रंप के संक्रमित होने के 9 दिन बाद शनिवार से चुनाव अभियान पर दोबारा लौटने की घोषणा के साथ ही प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन पर निशाना साधा. कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद चुनाव प्रचार के पहले दिन ही डोनाल्ड ट्रंप ने उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेट दावेदार सीनेटर कमला हैरिस को भी एक ‘राक्षस’ और ‘कम्युनिस्ट’ कह डाला. इस दौरान उन्होंने आगामी गुरुवार को बिडेन के साथ अगली डिबेट में हिस्सा लेने का संकल्प भी दोहराया.

डोनाल्ड ट्रंप ने 2 अक्टूबर को घोषणा की थी कि वो कोरोना पॉजिटिव हैं. कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद ट्रंप को 3 रातें अस्पताल में गुजरानी पड़ी थी. अस्पताल से लौटने के बाद ट्रंप ने कहा, जब आप इस पर मजबूत पकड़ बना लेते हैं तो स्वस्थ हो जाते हैं. बता दें कि अमेरिका में कोविड 2.12 लाख से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है. डॉ. सीन कॉनले ने कहा, राष्ट्रपति अब ठीक हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के संक्रमित होने के बारे में पिछले हफ्ते पता चला था और इस शनिवार को इसके दस दिन पूरे होंगे. कॉनले ने कहा कि मेरा अनुमान है कि तब (शनिवार तक) उनका सार्वजनिक जीवन में लौटाना सुरक्षित होगा.

सार्वजनिक रूप से नहीं जाएंगे बाहर!
व्हाइट हाउस के एक प्रवक्ता ने कहा कि ट्रम्प का COVID-19 टेस्ट किया जाएगा और वो सार्वजनिक रूप से बाहर नहीं जाएंगे, यदि उनमें किसी तरह का लक्षण दिखाई देते हैं या इस बात की आशंका नजर आती है कि उनके जरिए वायरस फैल सकता है.
66 लाख लोगों ने मतपत्रों से मतदान किया


अमेरिका में तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में अभी वक्त है, लेकिन अब तक 66 लाख लोगों ने पहले ही डाक मतपत्रों से मतदान कर दिया है. पिछले चुनाव के मुकाबले करीब 10 फीसदी ज्यादा लोगों ने डाक मतपत्रों से मतदान किया है. इस बार मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से जो बाइडेन के बीच कांटे की टक्कर है. उल्लेखनीय है कि यूनाइटेड स्टेट्स इलेक्शन प्रोजेक्ट शुरुआती आंकड़े प्राप्त कर यह जानकारी दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज