SC में जजों की नियुक्ति में दो हफ्तों से ज्‍यादा की देरी न करे केंद्र: जस्टिस कुरियन

सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जज कुरियन जोसफ.
सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जज कुरियन जोसफ.

जस्टिस जोसफ ने सुझाव दिया कि जजों के रिटायर होने की उम्र 70 साल की जानी चाहिए.

  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जज कुरियन जोसफ जजों की नियुक्ति में देरी को लेकर केंद्र सरकार पर बरस पड़े. अदालतों में पेंडिंग मामलों से जुड़ी एक कॉन्फ्रेंस में जस्टिस जोसफ ने कहा कि केंद्र को जजों की नियुक्ति में देरी और पेंडिंग केसों की लिस्‍ट को बढ़ाना नहीं चाहिए. उन्‍होंने सरकार से कॉलेजियम की ओर भेजे गए नामों को तय समय में स्‍वीकार करने को कहा है. कुरियन दिल्‍ली में उच्चतम न्यायालय की ओर से भारतीय विधि संस्थान के सहयोग से आयोजित किए गए एक सम्मेलन में बोल रहे थे.

जस्टिस जोसफ ने सुझाव दिया कि जजों के रिटायर होने की उम्र 70 साल की जानी चाहिए. उनका बयान ऐसे समय में आया है जब सरकार सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट के जजों की रिटायरमेंट उम्र को बढ़ाने पर विचार कर रही है. वर्तमान में सुप्रीम कोर्ट जजों के रिटायर होने की उम्र 65 और हाईकोर्ट जजों की 62 साल है.

उन्‍होंने कहा, 'जहां तक हाईकोर्ट में नियुक्ति की बात है तो एक बार जब कॉलेजियम ने नाम भेज दिया है तो फिर तीन महीने की देरी नहीं होनी चाहिए. वहीं सुप्रीम कोर्ट में दो सप्‍ताह से ज्‍यादा का समय नहीं लगना चाहिए.' जस्टिस जोसफ उत्‍तराखंड हाईकोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश केएम जोसेफ की सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति को लेकर काफी सक्रिय रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज