विजयी सांसदों को मोदी की सलाह- अखबार, टीवी में मंत्री पद के लिए नाम आए तो सच मत समझ लेना

मंत्रीपद को लेकर पीएम मोदी ने कहा, “सरकार और कोई बनाने वाला नहीं है जिसकी जिम्मेदारी है वहीं बनाने वाले हैं."

News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 9:32 PM IST
विजयी सांसदों को मोदी की सलाह- अखबार, टीवी में मंत्री पद के लिए नाम आए तो सच मत समझ लेना
पीएम नरेंद्र मोदी
News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 9:32 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 में जीत दर्ज करने के बाद शनिवार को NDA के संसदीय दल की बैठक हुई, जिसमें नरेंद्र मोदी को नेता चुना गया. NDA संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद पीएम मोदी ने चुनकर आए सांसदों को संबोधित किया. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने जहां चुनाव जीतने में अपनी पिछली सरकार के योगदान की चर्चा की तो नई सरकार की योजनाओं के बारे में इशारा दिया. इस बीच एक मौका ऐसा भी आया जब उन्होंने सांसदों से कहा कि अगर मीडिया में मंत्री पद के लिए उनका नाम उछले तो उसे सच मत समझ लेना.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अभी तक उन्होंने पूरी लिस्ट (जीते हुए सांसदों की) नहीं देखी है, लेकिन इस देश में बहुत ऐसे नरेंद्र मोदी पैदा हो गए हैं जिन्होंने मंत्रिमंडल बना दिया है. पीएम मोदी ने कहा कि अगर सबका टोटल किया जाएगा तो शायद 50 सांसद ही ऐसे रह जाएंगे जो मंत्री की लिस्ट में नहीं रहेंगे.



पीएम मोदी ने सांसदों को झूठे फोन कॉल और झूठी बातों से भी सचेत रहने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि आजकल कई लोग पीएमओ के नाम पर झूठे फोन करते हैं, क्योंकि सांसद नया होता है इसलिए वह आवाज नहीं पहचान पाता. पीएम मोदी ने आगे कहा कि मीडिया वाले जो नाम चला रहे हैं वह भ्रमित करने के लिए हैं, आप इस भ्रम में मत आइए. उन्होंने ये भी कहा कि कई लोग आपको कहेंगे कि उन्होंने लिस्ट में आपका नाम देखा है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता.

नरेंद्र मोदी ने कहा, “जो कुछ होगा नियमों के मुताबिक होगा. न कोई अपना है न कोई पराया है जो कोई भी जीतकर आया है सारे मेरे हैं. मेरे लिए कोई फर्क नहीं पड़ता है. दायित्व बहुत कम लोगों को दे सकते हैं, इसलिए किसी खास के चक्कर में मत पड़ना. अगर अखबार या टीवी पर भी कहीं ऐसी खबर आए तो उसे फोन करके इसे बंद करने के लिए कहें.”

पीएम मोदी ने ये भी बताया कि कैसे गुजरात का सीएम रहने के दौरान झूठे फोनकॉल की वजह से एक पार्टी कार्यकर्ता छत्तीसगढ़ से उनके पास पहुंच गया था.

मंत्रीपद को लेकर पीएम मोदी ने कहा, “सरकार और कोई बनाने वाला नहीं है जिसकी जिम्मेदारी है वहीं बनाने वाले हैं. अखबार के पन्नों से न मंत्री बनते हैं न मंत्री पद चले जाते हैं. ये बीजेपी और एनडीए का कैरेक्टर नहीं है.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शपथ ग्रहण तक किसी भी बात पर भरोसा न करें और अगर आपको फोन आ भी जाता है तो एक बार इसे वैरिफाई कर ले. मोदी की इस बात पर सेंट्रल हॉल में मौजूद सांसद सभी नेता और सांसद हंसने लगे.
Loading...

बता दें कि अब तक जो जानकारी आ रही है उसके मुताबिक मोदी 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें: राहुल के इस्तीफे की पेशकश कांग्रेस के वरिष्ठों ने ठुकराई

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...