Assembly Banner 2021

खतरे की घंटी! देश में कोरोना के मामले दोगुने होने की अवधि में कमी, सिर्फ 6 राज्यों से 80% केस

कोरोना के लगातार बढ़ रहे हैं मामले.

कोरोना के लगातार बढ़ रहे हैं मामले.

Coronavirus Pandemic: पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 40,715 नए मामले सामने आए, जिनमें से 80.90 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु से थे.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत में कोविड-19 (Coronavirus) के मामले दोगुना होने की अवधि एक मार्च को 504.4 दिन थी, जो 23 मार्च को घट कर 202.3 दिन हो गई. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि छह राज्यों में रोजाना सामने आने वाले वायरस के नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. नए मामलों में से 80.90 प्रतिशत मामले इन्हीं छह राज्यों से हैं. इस बीच, 22 मार्च को एक दिन में सर्वाधिक 32.53 लाख से अधिक लोगों को कोविड-19 रोधी टीके लगाए गए, जिसके साथ ही देश में अभी तक 4.8 करोड़ से अधिक लोगों को टीके लग चुके हैं.


आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 40,715 नए मामले सामने आए, जिनमें से 80.90 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु से थे. इन राज्यों में से महाराष्ट्र में सबसे अधिक 24,645 (60.53 प्रतिशत) नए मामले सामने आए. पंजाब में 2,299 और गुजरात में 1,640 नए मामले सामने आए. मंत्रालय ने बताया कि महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, मध्य प्रदेश, दिल्ली, तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, हरियाणा और राजस्थान ऐसे राज्य हैं, जहां रोजना सामने आने वाले कोविड-19 के नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है.


Youtube Video

मंत्रालय ने रेखांकित किया कि भारत में लगातार उपचाराधीन मरीजों की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है, जो कि मध्य फरवरी में अपने सबसे निचले स्तर पर थी. आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 3,45,377 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, पिछले 24 घंटे में इनमें 10,731 मामलों का इजाफा हुआ है. इनमें से 75.15 प्रतिशत उपचाराधीन मरीज महारष्ट्र, केरल और पंजाब के हैं.


आंकड़ों के अनुसार, देश में एक मार्च को वायरस के मामले दोगुना होने का समय 504.4 दिन था, जो कि 23 मार्च को घटकर 202.3 दिन हो गया. आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार सुबह सात बजे देश में कुल 4,84,94,594 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके लगाए जा चुके थे. इनमें से 4,06,31,153 लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई है.






टीका लगवाने वाले 4,84,94,594 लोगों में से 78,59,579 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली खुराक और 49,59,964 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है. वहीं अग्रिम मोर्च पर तैनात 82,42,127 कर्मियों को टीके की पहली खुराक और 29,03,477 कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है. किसी बीमारी से ग्रसित 45 साल से अधिक और 60 वर्ष तक आयु के 42,98,310 लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई है, वहीं 60 से अधिक आयु के 2,02,31,137 वरिष्ठ नागरिकों को टीके की पहली खुराक दी गई है.


 (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज