Home /News /nation /

कैसी है डॉ. डैंग्स लैब, जहां हो रहे हैं कोरोना की नई वैक्सीन कोर्बेवैक्स के ट्रायल

कैसी है डॉ. डैंग्स लैब, जहां हो रहे हैं कोरोना की नई वैक्सीन कोर्बेवैक्स के ट्रायल

लैब में हर फील्ड के प्रसिद्ध विशेषज्ञ हैं (फाइल फोटो)

लैब में हर फील्ड के प्रसिद्ध विशेषज्ञ हैं (फाइल फोटो)

Corbevax Vaccine: बायोलॉजिकल ई लिमिटेड का वैक्सीन कोर्बेवैक्स कोविड-19 के खिलाफ स्वदेशी रूप से विकसित पहली प्रोटीन-सबयूनिट वैक्सीन है जो वैक्सीन एंटीजन के रूप में स्पाइक प्रोटीन से रिसेप्टर-बाइंडिंग डोमेन का इस्तेमाल करती है. टीकों के प्रोटीन सबयूनिट वर्ग का कई वर्षों से कई वायरल रोगजनकों के खिलाफ सफलतापूर्वक उपयोग किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने मंगलवार को आपातकालीन उपयोग के लिए दो नए कोविड ​​​​-19 टीके और एक एंटी-वायरल दवा को मंजूरी दे दी. डॉ डैंग्स लैब के सीईओ डॉ अर्जुन डैंग ने घोषणा का स्वागत करते हुए कहा कि वे कॉर्बेवैक्स वैक्सीन से संबंधित “एंड-टू-एंड सेवाओं के लिए केंद्रीय प्रयोगशाला के रूप में चयनित किए जाने से इस महत्वपूर्ण यात्रा का हिस्सा बनने के लिए” बहुत गर्व महसूस करते हैं.

    डॉ अर्जुन डैंग ने कहा, “डॉ डैंग्स लैब ने कॉर्बेवैक्स के सभी तीन चरणों के लिए स्क्रीनिंग, सुरक्षा और कई इम्युनोजेनेसिटी परीक्षण किए, जो मल्टी-सेंट्रिक थे, जो निरंतर चलने वाले प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, समय पर परिणाम देना, सटीक प्रयोगशाला परख और कुशल जैव-भंडार प्रबंधन सुनिश्चित करते थे. यह भाग लेने वाले जांच स्थलों, प्रमुख जांचकर्ताओं के साथ-साथ पैन इंडिया लॉजिस्टिक्स के कुशल संचालन के साथ घनिष्ठ समन्वय के कारण ही संभव हो पाया. “डॉ अर्जुन डांग ने कहा.

    ये भी पढ़ें- मेट्रो ट्रेन में यात्रा पर सख्‍ती, कोविड नियमों का उल्‍लंघन किया तो मिलेगी सजा

    कैसी है कोर्बेवैक्स वैक्सीन
    बायोलॉजिकल ई लिमिटेड का वैक्सीन कोर्बेवैक्स कोविड-19 के खिलाफ स्वदेशी रूप से विकसित पहली प्रोटीन-सबयूनिट वैक्सीन है जो वैक्सीन एंटीजन के रूप में स्पाइक प्रोटीन से रिसेप्टर-बाइंडिंग डोमेन का इस्तेमाल करती है. टीकों के प्रोटीन सबयूनिट वर्ग का कई वर्षों से कई वायरल रोगजनकों के खिलाफ सफलतापूर्वक उपयोग किया गया है. इसे उत्कृष्ट सुरक्षा प्रोफ़ाइल और लगातार इम्यून रिस्पॉन्स के लिए जाना जाता है, जिसे भारत में 30 से ज्यादा साइट्स पर आयोजित व्यापक चरण 1, 2 और 3 के क्लीनिकल में भी प्रदर्शित किया गया था.

    नई दिल्ली में डॉ डैंग्स लैब ने नियामक अधिकारियों की ओर से अनिवार्य जीसीएलपी दिशानिर्देशों द्वारा संचालित कड़े गुणवत्ता मानदंडों का पालन करते हुए सभी तीन चरणों के लिए स्क्रीनिंग और इम्यूनोजेनेसिटी टेस्ट में भाग लिया. डॉ अर्जुन डैंग ने कहा कि लैब में हर फील्ड के प्रसिद्ध विशेषज्ञ हैं “जिन्होंने प्रभावी और सुरक्षित कोविड-19 वैक्सीन की जरूरत को पूरा करने के लिए गुणवत्ता और समय पर नतीजे देने के लिए अथक और सामूहिक रूप से काम किया है.”

    ये भी पढ़ें- WHO की चेतावनी- गंभीर खतरा बन सकता है ओमिक्रॉन, पूरी दुनिया में बढ़े 11% केस

    उन्होंने कहा, “डॉ डैंग्स लैब दिल्ली और एनसीआर में एक प्रीमियम लैब श्रृंखला है जो अपनी व्यक्तिगत और गुणवत्ता-आधारित क्लीनिकल सर्विसेस के लिए प्रसिद्ध है और इसने पहले एकैडमिक रीसर्च और क्लीनिकल ट्रायल्स के लिए विभिन्न संस्थानों और कंपनियों के साथ भागीदारी की है.”

    कोर्बेवैक्स कोरोनावायरस के खिलाफ भारत में निर्मित तीसरी वैक्सीन है, अन्य दो स्वदेशी टीके कोवैक्सिन और ZyCoV-D हैं.

    Tags: Corbevax, Corona vaccination

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर