कोरोना पर 11 राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों संग डॉ. हर्षवर्धन की बैठक, बोले- छत्तीसगढ़ में बुरे हालात

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने 11 सर्वाधिक प्रभावित राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की है. (तस्वीर-drharshvardhanofficial facebook)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने 11 सर्वाधिक प्रभावित राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की है. (तस्वीर-drharshvardhanofficial facebook)

इन 11 राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान हैं. इन राज्यों के स्वास्थ्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में हर्षवर्धन ने कहा है कि देश का कोरोना रिकवरी रेट 92.38% है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना की तेज रफ्तार दूसरी लहर (Second Wave Of Covid-19) के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 11 सर्वाधिक प्रभावित राज्यों के साथ बैठक की है. इन 11 राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान हैं. इन राज्यों के स्वास्थ्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में हर्षवर्धन ने कहा है कि देश का कोरोना रिकवरी रेट 92.38% है. साथ ही उन्होंने कहा कि तेजी से नए मामलों में बढ़ोतरी के बावजूद मृत्यु दर 1.30 प्रतिशत है.

बैठक में केंद्रीय मंत्री ने बताया, 'सबसे बुरी हालत छत्तीसगढ़ की है. यहां पर कोरोना पॉजिटिविटी रेट 20 प्रतिशत है. मामलों में दस गुना से ज्यादा की वृद्धि हुई है. यूके वैरिएंट्स के 80 फीसदी केस पंजाब में पाए गए हैं. इसका पता जिनोम सिक्वेंसिंग के तहत लगाया गया है.'

Youtube Video


प्रभावित राज्यों में केंद्र ने भेजी हैं 50 टीमें
इससे पहले सोमवार को कोरोना की बेलगाम रफ्तार के मद्देनजर केंद्र सरकार ने उन राज्यों में केंद्रीय टीमें भेजी हैं जहां पर महामारी का प्रकोप बहुत ज्यादा है. इसी क्रम में महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ में एक्सपर्ट्स की 50 टीमें तैनात की गई हैं. महाराष्ट्र के 30 जिलों, छत्तीसगढ़ के 11और पंजाब के 9 जिलों में केंद्रीय टीमें तैनात होंगी. कोरोना के रोजाना बढ़ते मामलों और मौत के आंकड़ों को देखते हुए टीमें रवाना की गई हैं.

प्रत्येक टीम में एक संक्रामक रोक विशेषज्ञ और दूसरा पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट मौजूद है. ये टीम राज्यों की कोरोना के खिलाफ की गई पूरी तैयारी की समीक्षा करेगी. इसमें टेस्टिंग, सर्विलांस और कंटेनमेंट जोन की व्यवस्था की समीक्षा शामिल है. साथ ही राज्यों में कोरोना संबंधी नियमों के पालन और अस्पताल में मौजूद व्यवस्थाओं पर ये टीम निगाह रखेगी.

जिलेवार रणनीति बनाने के दिए गए थे निर्देश



गौरतलब है कि केंद्र की तरफ से जारी गाइडलाइंस में राज्यों से जिलेवार रणनीति बनाने के निर्देश दिए गए थे. केंद्र की तरफ से कहा गया था कि देश के 46 जिले ऐसे हैं जहां पर कोरोना का सबसे ज्यादा प्रभाव है. इनमें महाराष्ट्र के 30 जिले शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज