डॉ. हर्षवर्धन की अपील- दशहरा-दीपावली पर गरीब बच्चों के लिए खरीदें कपड़े-मिठाई

डॉ. हर्षवर्धन ने संडे संवाद के संबोधन की शुरुआत नवरात्रि की शुभकामना के साथ की
डॉ. हर्षवर्धन ने संडे संवाद के संबोधन की शुरुआत नवरात्रि की शुभकामना के साथ की

Dr Harsh Vardhan Sunday Samvad: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Health Minister Dr Harshvardhan) ने कहा महामारी के कारण दुनिया भर में बहुत निराशा है. हम सभी को परोपकार करना चाहिए. बड़ा दिल दिखाते हुए जरूरतमदों की सहायता करनी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 1:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Health Minister Dr Harshvardhan) ने संडे संवाद (Sunday Samvad) के संबोधन की शुरुआत नवरात्रि (Navratri) की शुभकामना के साथ की. उन्होंने कहा कि इसके बाद जनवरी तक त्योहार ही त्योहार हैं. ऐसे में हमें अधिक सतर्कता बरतने की आवश्यकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी इस बात की चिंता जताई थी. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मास्क (Mask) का इस्तेमाल करें. घर या ऑफिस में सफाई जरूर रखें. साथ ही साथ हैंडवाश के साथ-साथ सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन जरूर करें. उन्होंने लोगों से घर पर ही त्योहार मनाने की अपील की और पीएम मोदी के जनआंदोलन का सहभागी बनने की अपील की.

उन्होंने कहा कि महामारी के कारण दुनिया भर में बहुत निराशा है. हम सभी को परोपकार करना चाहिए. बड़ा दिल दिखाते हुए जरूरतमदों की सहायता करनी चाहिए. उन्होंने लोगों से अपील की कि अपने पड़ोस में गरीब लोगों को खोजें. उनके बच्चों के लिए नए कपड़े, मिठाई और ज़रूरत के सामान खरीदें, आपको अच्छा लगेगा. जब हम अपने नौ अवतारों में माँ शक्ति की पूजा करते हैं, मुझे आशा है कि महिलाओं के खिलाफ भेदभाव और अत्याचारों से मुक्त एक सशक्त महिला और समाज देखने को मिलेगा.

ये भी पढ़ें- स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन बोले- भारत में कोरोना वायरस ने नहीं बदला रूप, लेकिन सावधानी से मनाएं नवरात्रि




अखबार से नहीं सांस से फैलता है कोरोना
एक व्यक्ति से स्वास्थ्य मंत्री से सवाल किया कि अखबार के बिना सुबह की चाय बेस्वाद लगती है. कोरोना वायरस (Coronavirus) के डर से पिछले आठ महीने से घर में अखबार बंद है. क्या हम अखबार मंगवाना शुरू करे दें?

इसके जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘आगर आपको सुबह की चाय अखबार के बिना बेस्वाद लगती है तो तुरंत हॉकर से बोलकर अखबार मंगवा लें. कोरोना वायरस का संक्रमण सांस के माध्यम से फैलता है. अखबार पढ़ना पूरी तरह सुरक्षित है.’

बच्चों के मानसिक स्वस्थ रखना जरूरी
एक व्यक्ति ने पूछा, ‘बच्चों का भी दर्द समझिए. कोरोना के कारण वे पार्क में खेलने नहीं जा रहे हैं. दोस्तों से नहीं मिल पा रहे हैं. वे दिनभर कंप्यूटर और मोबाइल में चिपके रहते हैं. इसका असर बच्चों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर पड़ रहा है. आखिर बच्चों के लिए आप क्या कर रहे हैं’

ये भी पढ़ें- चीन ने भारतीय सीमा के पास दागी मिसाइलें, जारी किया VIDEO

इस सवाल के जवाब में डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, ‘मैं बच्चों को लेकर अभिभावकों की परेशानी से वाकिफ हैं. बच्चों के मानसिक स्वस्थ रखना जरूरी है. केंद्र सरकार ने स्कूल खोलने की इजाजत दी है, लेकिन अंतिम फैसला राज्यों पर निर्भर है. अभिभावकों को चाहिए कि बच्चों के लिए डेली रूटीन बनाना जरूरी है. घर के काम में भी शामिल करें. यह समय अभिभावकों के लिए धैर्य दिखाने का है. बच्चों को फेक न्यूज के बारे में आगाह करें.’

स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से की ये अपील
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लोगों से अपील करते हुए कहा, ‘इस नवरात्रि मैं आपसे आग्रह करता हूं कि कोविड-19 (Covid-19) को हराने में अपनी भूमिका के प्रति सजग रहें. जैसा कि हम प्रार्थना में झुकते हैं, हमें अपने विचारों में लाखों कोरोना योद्धाओं (Corona Warriors) का बलिदान रखना चाहिए, जिन्होंने अपनी जान गंवाई है और जो हमें बचाने के लिए खतरनाक बीमारी से जूझ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज